फ्रांस में बुजुर्ग महिला का सिर काटने वाला हाथ में कुरान लिए हुए था

    दिनांक 30-अक्तूबर-2020
Total Views |
फ्रांस में एक चर्च में आतंकी हमला करके एक महिला का बर्बरता से सिर काटने वाले ट्यूनीशियाई मुस्लिम युवक हाथ में कुरान लिए हुए थे। वह अल्लाह हू अकबर के नारे भी लगा रहा था

france_1  H x W
फ़्रांस की एंटी टेरेरिस्ट एजेंसी ने जांच में पता चला है कि चर्च में हमला कर एक महिला समेत तीन लोगों की हत्या करने वाले 21 वर्षीय ट्यूनीशियाई नागरिक है। वह इस महीने की शुरुआत में फ़्रांस आया था। उसके पास इटली के रेड क्रॉस द्वारा जारी किए गए दस्तावेज़ थे। हमले के दौरान उसने हाथ में कुरान भी ली हुई थी और वह अल्लाह हू अकबर के नारे लगा रहा था।
हमले के बाद सरकार ने सुरक्षा अलर्ट को बढ़ाकर अधिकतम स्तर का कर दिया गया है। पिछले दो महीनों में फ्रांस में इस तरह का तीसरा हमला है। इस हमलावर के बैग से दो अतिरिक्त चाकू भी बरामद हुए हैं।
आतंक-विरोधी अभियोजकों ने इस हमले की जांच शुरू कर दी है और फ़्रांस ने राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर रेड अलर्ट घोषित कर दिया है। फ़्रांस के मुख्य आतंकवाद-विरोधी अभियोजक ज़्यां फ़ोंसा हिकाख़ ने बताया है कि पुलिस की जवाबी कार्रवाई में हमलावर गंभीर रूप से घायल हुआ है। हिकाख़ का कहना है कि संदिग्ध 21 वर्षीय ट्यूनीशियाई नागरिक है जो इस महीने की शुरुआत में फ़्रांस आया था। उसके पास इटली के रेड क्रॉस द्वारा जारी किए गए दस्तावेज़ थे। हमलावर का नाम ब्राहिम एइसोई बताया गया है। वह सितंबर में ट्यूनीशिया से नाव के ज़रिए इटली के लैम्पेडूसा द्वीप पर पहुंचा था। कोरोना वायरस के कारण क्वारंटीन का समय पूरा करने के बाद उसे इटली छोड़ने के लिए कहा गया था।
हमलावर पुलिस द्वारा पकड़े जाने के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गया था और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस वारदात स्थल से एक किलोमीटर की दूरी पर वर्ष 2016 में बास्तील डे परेड के दौरान एक हमलावर ने ट्रक को भीड़ में घुसा दिया था, जिसमें दर्जनों लोगों की मौत हो गई थी।
यूनाइटेड नेशन्स अलायंस ऑफ सिविलाइजेशन (यूएनएओसी) के उच्च प्रतिनिधि मिग्वेल एंगेल मोरातिनोस ने फ्रांस के दक्षिण-पूर्वी तट पर स्थित नीस शहर हुए 'बर्बर हमले की कड़ी निंदा की है।