पश्चिमी बंगाल में भाजपा पार्षद को गोलियों से भूना

    दिनांक 06-अक्तूबर-2020
Total Views |
पश्चिमी बंगाल में भाजपा पार्षद को पुलिस स्टेशन के सामने गोलियों से भून दिया गया। उन पर कार्बाइन से हमला किया गया था। हत्या के करने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए
west bengal _1  

पश्चिम बंगाल में तृणमूल के गुंडे लगातार भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या कर रहे हैं। उनके हौसले इतने बढ़ गए है कि पुलिस थाने के सामने भी हत्या की जा रही है। उत्तर 24 परगना जिले में रविवार रात टीटागढ़ पुलिस स्टेशन के सामने भाजपा पार्षद मनीष शुक्ला की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या के विरोध में भाजपा ने बैरकपुर में बंद का आह्वान किया। पश्चिम बंगाल में तृणमूल की राजनीतिक हिंसा का शिकार होने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं की संख्या बढ़कर 86 हो गई है।
जानकारी के अनुसार भाजपा पार्षद मनीष शुक्ला रविवार रात करीब साढ़े 8 बजे टीटागढ़ थाने के सामने बने पार्टी कार्यालय में बैठे थे। इसी दौरान यहां पहुंचे बाइक सवार हमलावरों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस घटना में एक युवक गंभीर रूप से घायल भी हुआ है।
उधर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भाजपा कार्यकर्ताओं की लगातार हो रही राजनीतिक हत्या को गंभीरता से लिया है। राज्यपाल धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और डीजीपी समेत आला पुलिस अधिकारियों को राजभवन तलब किया। उन्होंने ट्वीट कर इसके बारे में जानकारी दी है।
पश्चिम बंगाल के प्रभारी और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो ट्वीट कर कहा, ‘पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही। आज फिर तृणमूल के गुंडों ने भाजपा कार्यकर्ता मनीष शुक्ला की गोली मारकर हत्या कर दी। यह घटना बैरकपुर के टीटागढ़ पुलिस स्टेशन के बाहर घटी, पर हमेशा की तरह पुलिस आंखों पर पट्टी बांधे रही।’

कैलाश विजयवर्गीय ने मनीष शुक्ला के परिवार से मुलाकात की। इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा ‘आज मैं उस परिवार से मिला और परिजनों को सांत्वना दी। लेकिन, इस घटना में पुलिस की भूमिका संदिग्ध है, इसलिए मैंने केंद्र सरकार से सीबीआई जांच की मांग की है।’

कैलाश विजयवर्गीय ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक और ट्वीट करते हुए कहा कि इसमें पुलिस कमिश्नर मनोज वर्मा और अजय ठाकुर की भूमिका भी संदिग्ध है। थाने के पास किसी अपराधी का स्टेनगन से हमला करना बताता है कि ये सामान्य हत्याकांड नहीं है।

पश्चिम बंगाल में पुलिस स्टेशन के सामने सरेआम हुई मनीष शुक्ला की हत्या के बाद वहां तनावपूर्ण हालात बने हुए हैं। पश्चिम बंगाल भाजपा महासचिव संजय सिंह ने इस वारदात को लेकर ममता बनर्जी सरकार पर सवाल उठाया है। वहीं उन्होंने आधिकारिक रूप से बैरकपुर में बंद का आह्वान करने की जानकारी भी दी है।