बाजवा की छद्म बहादुरी का राज खोलने वाले सांसद को ‘मीर जाफर’ साबित कर जेल में डालने की तैयारी

    दिनांक 02-नवंबर-2020   
Total Views |
भारत की एयर स्ट्राइक से पाकिस्तानी सेना अध्यक्ष के भयभीत होने व भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन को बिना शर्त छोड़ने का खुलासा करने वाले सांसद अयाज सादिक़ को देश का ‘मीर जाफर’ करार दे दिया गया है। यहां तक कि जेल में डालने का इंतजाम भी कर दिया गया है

imran khan _1  
भारत की एयर स्ट्राइक से पाकिस्तानी सेना अध्यक्ष के भयभीत होने एवं आक्रमण के डर से भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन को बिना शर्त छोड़ने का खुलासा करने वाले सांसद अयाज सादिक़ को देश का ‘मीर जाफर’ करार दे दिया गया है। पाकिस्तान की सड़कों पर न केवल इस तरह के पोस्टर लगाए गए हैं बल्कि उनको जेल में डालने का इंतजाम भी कर लिया गया। इमरान खान सरकार, सियासतदानों का एक वर्ग एवं सेना इस बात से खफा है कि उन्होंने संसद में ऐसी बातें क्यों कीं ? ऐसे में उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा ठोंकने की तैयारी है।
बता दें कि अयाज सादिक़ पाकिस्तान नेशल एसेंबली के स्पीकर रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री मियां नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के वरिष्ठ नेता के साथ लाहौर से सांसद भी हैं। गत दिनों उन्होंने कौमी एसेंबली यानी राष्ट्रीय संसद में पुलवामा के आतंकवादी हमले में भारतीय सेना के 20 जवानों के बलिदान होने पर भारत की ओर से की गई एयर स्ट्राइक को लेकर एक बयान दिया था। एयर स्ट्राइक के बाद ही पाकिस्तानी सेना के जंगी हवाई जहाज ने भारत की सीमा लांघने की कोशिश की थी, मगर भारतीय वायु सेना ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए उन्हें खदेड़ दिया था। इस क्रम में भारतीय वायु सेना का एक जहाज दुर्घटनाग्रस्त होने से विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान की सीमा में लैड करना पड़ा था। इस पर सांसद अयाज सादिक़ ने पाकिस्तान की संसद में स्वीकारा कि अभिनंदन के पाकिस्तान के कब्जे में होने से प्रधानमंत्री इमरान खान को भारत के हमले का अंदेशा सताने लगा था। उनके दावे के अनुसार, पाकिस्तान सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा के तो भय से पैर कांप रहे थे। उनका संसद में यह कबूलनामा देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।
अयाज का खुलासा, कांग्रेस पर तमाचा
सोशल मीडिया पर वीडियो के वायरल होते ही भारत सहित विभिन्न देशों की मीडिया में पाकिस्तान की हैसियत की खिल्ली उड़ाई जाने लगी। हालांकि, अयाज सादिक़ के बयान से पैदा शर्मिंदगी पर पर्दा डालने के चक्कर में इमरान खान मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सदस्य फव्वाद चौधरी ने एक और बड़ा खुलासा कर दिया। उन्होंने सदन में माना कि पुलवामा की घटना पाकिस्तान की कारस्तानी थी। उनके मुताबिक, ‘पाकिस्तान ने पुलवामा में भारत को घुस के मारा, जिसे पूरी दुनिया ने देखा।’ उनके इस बयान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिक्रिया है कि जो लोग पुलमावा एवं एयर स्ट्राइक पर आपत्ति उठा रहे थे, पाकिस्तानी संसद में उनके नेताओं ने स्पष्ट कर दिया कि वास्तविकता क्या थी। मोदी का इशारा कांग्रेस की ओर था। राहुल गांधी हमेशा एयर स्ट्राइक एवं पुलवामा की घटना को आधार बनाकर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश करते रहे हैं।
देशद्रोह में गिरफ्तारी कभी भी संभव
बहरहाल, अयाज सादिक़ के सदन में दिए बयान को लेकर पाकिस्तान की सियासत में भूचाल आया हुआ है। इसे ‘देशद्रोह’ का जामा पहनाने को इमरान खान की आईटी सेल पूरे ताकत से लगी है। अयाज सादिक़ के खिलाफ माहौल बनाया जा रहा है। उन्हें देशद्रोही बताने वाले पोस्टर रातों रात पाकिस्तान की सड़कों पर लगा दिए गए। इस मुद्दे पर, कल तक इमरान सरकार के खिलाफ एकजुट 11 विपक्षी दलों का गठबंधन ‘पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट’ भी बैकफुट पर है। मियां नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तानी मुस्लिम लीग-एन के एक धड़े ने अयाज सादिक़ के बयान से किनाराकशी कर ली है। पाक मीडिया भी उनकी आलोचना करने लगा है। उन्हें देशद्रोही बताया जा रहा है। हालांकि, बयान पर विवाद होने के चलते अयाज ने सफाई दी है कि उन्होंने सरकार एवं फौज की तैयारियों एवं उनके काम-काज के तरीके पर सवाल उठाने के लिए ऐसा बयान दिया। पर उनकी इस दलील को कोई मानने को तैयार नहीं। ऐसे में उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने का माहौल तैयार कर लिया गया है। एक-दो दिनों में उनकी गिरफ्तारी की खबर भी आ सकती है। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने उनके बयान का खंडन करने के लिए विशेष तौर से प्रेस वार्ता की थी। इस दौरान उन्होंने भी अयाज सादिक़ के बयान को देशद्रोही हरकत साबित करने का प्रयास किया।