शायर मुनव्वर राणा को भारी पड़ा फ्रांस की घटना का समर्थन, दर्ज हुई एफआईआर

    दिनांक 02-नवंबर-2020
Total Views |
शायर मुनव्वर राणा के खिलाफ एफआईआर में सामाजिक वैमनस्य फैलाने, शांति भंग करने के साथ-साथ आईटी एक्ट का उल्लंघन करने की भी बात कही गई है. ये एफआईआर हजरतगंज कोतवाली के सब इंस्पेक्टर दीपक पाण्डेय ने दर्ज कराई है

fir munwwar rana _1 
फ्रांस के कट्टर मुसलमानों के समर्थन में बयान जारी करने वाले शायर मुनव्वर राणा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. लखनऊ जनपद के हजरतगंज थाने में उप -निरीक्षक दीपक पाण्डेय ने एफआईआर दर्ज कराई. उप-निरीक्षक दीपक पाण्डेय ने तहरीर में लिखा है कि “ टी.वी पर मुनव्वर राना का इंटरव्यू देखा. उसमे उनका बयान बेहद वैमनस्यता फैलाने वाला था. यह बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इससे दो सम्प्रदाय में वैमनस्य फ़ैल सकता है और शांन्ति भंग होने की आशंका है.”
उल्लेखनीय है कि मुनव्वर राणा की कभी कांग्रेस से निकटता रही. उसके पीछे उनका तर्क है कि वह रायबरेली के रहने वाले हैं. फिर वे समाजवादी पार्टी के करीबी रहे. उनके भाई सपा के टिकट पर चुनाव लड़े. मुनव्वर सपा की सरकार में उर्दू अकादमी के अध्यक्ष बनाये गए. फिलहाल उनकी बेटी कांग्रेस पार्टी में हैं. मुनव्वर राणा , कुछ वर्ष पहले अवार्ड वापसी गैंग का अहम हिस्सा रहे. इस बार उन्होंने फ्रांस के कट्टर मुसलमानों का समर्थन किया. फ्रांस में हुई आतंकी घटना पर जब उनसे प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि "अगर कोई व्यक्ति मेरे पिता का गंदा कार्टून बनायेगा या फिर मेरी मां के बारे में गन्दा कार्टून बनाएगा तो हम तो उसे मार देंगे." इस बयान के बाद जब मुनव्वर का काफी विरोध होने लगा तब उन्होंने अपने बयान में एक वाक्य यह जोड़ा कि “अगर कोई भगवान राम के बारे में कार्टून बनाता है तो मैं उसे भी मार दूंगा.”