'लव जिहाद' पर कानून बनाने की तैयारी तेज, गृह विभाग ने भेजा प्रस्ताव

    दिनांक 20-नवंबर-2020   
Total Views |
उत्तर प्रदेश सरकार  ने ‘लव जिहाद’ पर कानून बनाने की दिशा में कदम आगे बढ़ाया है.  उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने इस सम्बन्ध में प्रस्ताव न्याय विभाग को भेज दिया है. बहुत जल्द ही सरकार ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून बनाने के लिए विधानसभा में विधेयक ला सकती है. गत माह उप चुनाव में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि “ लव जिहाद को नियंत्रित करने के लिए प्रदेश सरकार कानून बनायेगी.
 
yogi_1  H x W:

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का यह बयान इलाहाबाद उच्च न्यायालय के उस निर्णय के बाद आया था जिसमें इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने सिर्फ विवाह के लिए ‘कन्वर्जन’ को गलत ठहराया था. दरअसल, कई मामलों में ऐसा देखा गया कि सिर्फ विवाह के लिए बालिग़ लड़के और लड़कियां ‘‘कन्वर्जन’’ करते हैं.  इनमें से कुछ लोग पुलिस संरक्षण के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय में याचिका दायर करते हैं. ऐसी ही एक याचिका पति की तरफ से इलाहाबाद न्यायालय  में  दाखिल की गई थी.

याचिका में कहा गया था कि  स्वेच्छा से विवाह हुआ है लेकिन लड़की के पिता इस विवाह से प्रसन्न नहीं हैं. याचिका में मांग की गई थी कि उनके वैवाहिक जीवन में किसी के द्वारा हस्तक्षेप न किया जाय और पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई जाय. इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कहा कि इस मामले को देखने से स्पष्ट है कि  29 जून 2020 को ‘कन्वर्जन’ हुआ और 31 जुलाई को विवाह कर लिया. केवल विवाह करने के लिए कन्वर्जन किया गया था. वर्ष 2014 में  नूरजहां बेगम के केस में भी उच्च न्यायालय ने कहा था कि सिर्फ विवाह करने के उद्देश्य से किया गया ‘कन्वर्जन’ स्वीकार्य नहीं है.