भारत की बढ़ती ताकत, ब्रह्मोस मिसाइल का एक और सफल परीक्षण

    दिनांक 25-नवंबर-2020   
Total Views |
 
भारत ने सतह से सतह पर अचूक निशाना लगाने वाली सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल ब्रह्मोस का मंगलवार को सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण अंडमान-निकोबार में किया गया। इस मिसाइल की मारक क्षमता 290 से बढ़ाकर चार सौ की गई है।
 
brahmos_1  H x
भारत ने सतह से सतह पर अचूक निशाना लगाने वाली सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल ब्रह्मोस का मंगलवार को सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण अंडमान-निकोबार में किया गया। इस मिसाइल की मारक क्षमता 290 से बढ़ाकर चार सौ की गई है। इसकी रफ्तार आवाज से तीन गुणा अधिक है। खबरों की मानें तो भारतीय वायुसेना और नौसेना सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के अन्य नए संस्करणों का अलग—अलग परीक्षण करेगी। 

गौरतलब है कि ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल अपनी श्रेणी में दुनिया की सबसे तेज परिचालन प्रणाली है। पिछले दो महीनों में डीआरडीओ कई नई और मौजूदा मिसाइल प्रणालियों सहित शौर्य मिसाइल प्रणाली का परीक्षण करने में सफल रहा है, जो 800 किलोमीटर से अधिक दूरी तक अचूक निशाना साध सकती हैं। ब्रह्मोस को पनडुब्बियों, विमानों और जमीन से लांच किया जा सकता है। ब्रह्मोस से इस नए संस्करण के परीक्षण से पहले ही भारत इसे चीन से लगती सीमा पर तैनात कर चुका है। 

उल्लेखनीय है कि एक तरफ तिब्बत सीमा पर चीन तो दूसरी तरफ पाकिस्तान के साथ सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत अपनी ताकत बढ़ाने में जुटा हुआ है। भारत लगातार क्रूज और बैलेस्टिक मिसाइलों का सफल परीक्षण कर रहा है।