बांग्लादेश में जिहादियों ने फूंके हिंदुओं के घर

    दिनांक 03-नवंबर-2020
Total Views |
एक बार फिर बांग्लादेश में जिहादी मुसलमानों ने फ्रांस की घटना की आड़ लेकर मासूम हिन्दुओं को अपना निशाना बनाया है। कट्टरपंथियों ने सोशल मीडिया पर फ्रांस का समर्थन करने पर हिंदू समुदाय के कई लोगों के घरों में तोड़फोड़ की और फिर उन्हें आग के हवाले कर दिया

bangaladesh _1   
एक बार फिर बांग्लादेश में जिहादी मुसलमानों ने फ्रांस की घटना की आड़ लेकर मासूम हिन्दुओं को अपना निशाना बनाया। घटना कोमिला जिले में स्थित मुरादनगर के कोरबनपुर गांव की है, जहां कट्टरपंथियों ने सोशल मीडिया पर फ्रांस का समर्थन करने पर हिंदू समुदाय के कई लोगों के घरों में तोड़फोड़ की और फिर उन्हें आग के हवाले कर दिया। जिसके बाद से वहां के हिंदू समुदाय में दहशत का माहौल है। बता दें कि दंगाइयों ने स्थानीय यूनियन परिषद के अध्यक्ष बनकुमार शिव के कार्यालय और कमेंट करने के कथित आरोपी शंकर देबनाथ के घर में आग लगा दी। इतना ही नहीं जिहादियों ने यहां के दर्जनों हिंदू परिवारों पर हमले भी किए। घरों में लगाई गई आग इतनी भयावह थी कि उसे बुझाने के लिए दमकल की कई गाड़ियों को बुलाना पड़ा। मुस्लिम कट्टरपंथियों की इस वारदात के बाद तनाव की स्थिति बनी हुई है और बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। हालांकि जिहादी हमले में कितने हिन्दू हताहत हुए अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है।
फ्रांस पर जारी हैं प्रदर्शन
फ्रांस के घटनाक्रम को लेकर बांग्लादेश में कठमुल्ले आग उगल रहे हैं। बड़े—बड़े प्रदर्शन और जुलूस निकालकर मुसलमानों की ताकत का अहसास कराया जा रहा है। आग उगलते यह उन्मादी किसी न किसी बात की आड़ लेकर अल्पसंख्यकों को निशाना बनाएंगे, इसका अंदेशा पहले से ही था। मुरादनगर में हुई इस घटना ने यह बात साबित भी कर दी है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट की मानें तो कोमिला जिले में हुई इस घटना को भड़काने का काम अफवाहों ने किया। यहां अचानक यह अफवाह फैलाई गई कि एक हिंदू ने फ्रांस के राष्ट्रपति की प्रशंसा की और साथ ही इस्लाम की निंदा। इस अफवाह के फैलते ही जिहादी आग बबूला हो गए और देखते ही देखते उन्होंने हिन्दुओं के घरों में तोड़फोड़ और आग लगाना शुरू कर दिया।