पाकिस्तान में प्राचीन हिन्दू मंदिर में की तोड़फोड़, भगवान गणेश की प्रतिमा को तोड़ा

    दिनांक 03-नवंबर-2020
Total Views |
पाकिस्तान में मजहबी भीड़ ने एक बच्चे पर पैगंबर की ईशनिंदा का आरोप लगाया और प्राचीन मंदिर में जमकर तोड़फोड़ की

pakistan temple _1 & 
पाकिस्तान में इस्लामिक कट्टरपंथियों द्वारा हिंदू धर्मस्थलों को नुकसान पहुंचाने का सिलसिला थमता नजर नहीं रहा है। कट्टरपंथियों ने बीते सोमवार को एक बार फिर प्राचीन मंदिर को नुकसान पहुंचाया है। घटना कराची के भीमपुरा इलाके के ली मार्केट की है, जहां मजहबी भीड़ ने एक बच्चे पर पैगंबर की ईशनिंदा का आरोप लगाया और प्राचीन मंदिर में जमकर तोड़फोड़ की। इस दौरान अराजक तत्वों ने मंदिर में रखी भगवान गणेश और शिवजी की मूर्तियों को भी तोड़ दिया। जानकारी के मुताबिक कट्टरपंथियों ने बिना किसी ठोस सबूत के हिंदू बच्चे पर ईशनिंदा का आरोप लगाया था। स्थानीय हिंदू समुदाय ने बताया कि उन पर लगातार ईशनिंदा का आरोप लगातार उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। इतना ही नहीं कट्टरपंथियों ने मंदिर के अंदर लगी भगवान की तस्वीरों को भी फाड़ दिया। गौरतलब है कि पाकिस्तान में बीते 20 दिनों में हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की यह तीसरी घटना है। लेकिन इमरान सरकार और स्थानीय प्रशासन आरोपियों के खिलाफ को ठोस कार्रवाई नहीं कर रही है।
बता दें कि पाकिस्तान में हिंदुओं पर अत्याचार की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं। अभी हाल ही में नवरात्र के समय भी सिंध प्रांत के थारपारकर जिले में स्थित नगरपारकर में इस्लामिक कट्टरपंथियों ने माता दुर्गा के प्राचीन मंदिर में तोड़फोड़ की थी। साथ ही मां दुर्गा की मूर्ति को खंडित किया था। मंदिर के पुजारी ने बताया था कि आधी रात के वक्त कुछ अज्ञात लोग मंदिर परिसर में घुसे थे, जिसके बाद उनके द्वारा माता दुर्गा की मूर्ति को खंडित किया और मंदिर को भी नुकसान पहुंचाया। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान पुलिस ने अभी तक उन आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। मंदिर के पास रहने वाले हिंदू समुदाय ने इस घटना पर गुस्से का इजहार करते हुये जल्द से जल्द दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।