नाबालिग हिन्दू लड़की के लिए कट्टरपंथियी मुल्ला मांग रहे मौत की सजा
    दिनांक 10-फ़रवरी-2020
15 जनवरी को पाकिस्तान के सिंध प्रान्त के जैकबाबाद से महक कुमारी का अपहरण कर लिया गया था। जिसका बाद में इस्लाम में जबरन कन्वर्जन करके एक मुसलमान आदमी से निकाह पढ़वा दिया था। वह पहले से ही 4 बच्चों का बाप था

mahak _1  H x W
अगवा की गई नाबालिग बच्ची महक और उसका बर्थ सर्टिफिकेट
हमारे देश में CAA कानून को लेकर मुसलमान सड़कों पर हैं। वहां पाकिस्तान में मजहबी उन्माद का शिकार हुई महक के लिए वहां के मुल्ला मौलवी मौत की सजा मांग रहे हैं। दरअसल नाबालिग महक ने कट्टरपंथियों पर जबरन इस्लाम कबूल करवाने का आरोप लगाते हुए इस्लाम छोड़ने की बात कही। इस पर इस्लामी कट्टरपंथियों ने उस पर इस्लाम को बेइज्जत करने का आरोप लगाते हुए उसके लिए मौत की सजा की मांग की है।
 
महक कुमारी नाम की इस हिन्दू बच्ची की जान खतरे में हैं क्योकि उसने दुनिया के आगे पाकिस्तान के उन्मादियों का काला चिटठा खोल दिया. उसने साफ़ साफ़ बताया कि पाकिस्तान में जबरन हिंदू लड़कियों का कन्वर्जन किया जा रहा है। खुद महक भी उन्ही में से एक है जिसका जबरन निकाल दोगुनी उमर के एक जिहादी से करवा दिया गया है. पाकिस्तान में 15 साल की हिंदू लड़की महक कुमारी ने गत 6 फरवरी को को एक स्थानीय न्यायालय में न्यायाधीश के सामने अपने लिए न्याय की गुहार लगाई। लडकी ने न्यायालय के सामने कहा कि, जिस अली रजा मिर्ची नामक मुस्लिम व्यक्ति से उसकी शादी हुई थी, वह उसके साथ नहीं रहना चाहती और न ही वो इस्लाम कबूल करना चाहती है।