हिन्दू महासभा नेता रणजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या, सीएए एनआरसी का कर रहे थे समर्थन
   दिनांक 02-फ़रवरी-2020
 
ranjeet _1  H x
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में विधानसभा से कुछ ही दूर पर हिन्दू महासभा के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष रणजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या कर दी गई । इस हमले में रणजीत बच्चन के मौसेरे भाई आदित्य भी घायल हो गए। रणजीत बच्चन सुबह टहलने निकले थे उसी समय पहले से घात लगाए हमलावरों ने उनके ऊपर ताबड़तोड़ फायर किए। घटना के बाद हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं ने थाने को घेर लिया और कार्रवाई की मांग करने लगे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। इस घटना के बाद एक चौकी प्रभारी एवं तीन सिपाहियों को निलंबित कर दिया गया है।
पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है और हत्या का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है। इसी प्रकार गत वर्ष नवम्बर माह में हिन्दूवादी नेता कमलेश तिवारी की उनके ही कार्यालय में निर्मम हत्या कर दी गई थी।राजधानी में कमिश्नरी सिस्टम लागू होने के बाद दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या करने की यह पहली घटना है।
संयुक्त पुलिस आयुक्त, नवीन अरोड़ा ने बताया कि" इस घटना की सूचना आदित्य श्रीवास्तव ने दी। आदित्य श्रीवास्तव ने पुलिस को बताया कि बाइक पर सवार बदमाश आये और वो शाल ओढ़े हुए थे। उन लोगों ने मोबाइल फोन छीना और फिर गोली चला दी जिससे रणजीत बच्चन की मौके पर ही मृत्यु हो गई।"
नवीन अरोड़ा ने बताया कि "आज सुबह 6 बजे रणजीत बच्चन और आदित्य श्रीवास्तव दोनों लोग सरकारी अपार्टमेंट ओ.सी.आर. से टहलने निकले थे। रणजीत बच्चन ने वर्ष 2002 से 2009 के बीच पूरे देश भर में साइकिल यात्रा निकाली थी और कुछ सामाजिक कार्य भी किए थे जिसको देखते हुए इन्हें सरकारी आवास मिला था।