दिल्ली के जाफराबाद में जिहादी भीड़ का नंगा नाच, राह चलते लोगों पर बरसाए पत्थर, कई घायल
   दिनांक 23-फ़रवरी-2020
 
mob _1  H x W:
जिहादी भीड़ द्वारा पथराव किए जाने के बाद उनका विरोध करने के लिए एकत्रित हुए लोग
 
सीएए (नागरिकता संशोधन कानून) और एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर) के विरोध में यमुनापार में कई दिनों से चल रहे प्रदर्शन ने रविवार को जाफराबाद के पास हिंसक रूप ले लिया। जाफराबाद, सीलमपुर, जनता कॉलोनी, कबीर नगर, गधापुरी, कर्दमपुरी से जिहादी भीड़ निकली सड़क जाम कर देश विरोधी नारे लगाती हुई मौजपुर चौकी तरफ बढ़ी। इस बीच पुलिस ने बैरिकेड लगाकर जिहादी भीड़ को रोकने की कोशिश की गई लेकिन मुसलमानों की भीड़ ने पथराव कर दिया। इस बीच आसपास के लोग एकत्रित हो गए और पथराव कर रही भीड़ का विरोध करने लगे, लेकिन बावजूद इसके भीड़ नहीं मानी और लोगों पर पथराव किया।
मौजपुर चौक पर शिवमंदिर के बाहर सीएए का ​विरोध कर रही भीड़ ने राह चलती पब्लिक पर पथराव करना शुरू कर कर दिया। कई लोगों को काफी चोट भी आई। जिहादी भीड़ ने पुलिस के बैरिकेड भी तोड़े डाले। पुलिस ने हवा में कई राउंड गोलियां भी चलाई, हालात को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस का सहारा लिया लेकिन ये बेअसर साबित हुआ। खबर लिखे जाने तक मौके पर हालात पुलिस के नियंत्रण से बाहर थे। रह-रहकर पत्थ़रबाजी हो रही थी। बताया यह भी जा रहा है मुसलमानों की भीड़ की तरफ से गोलियां भी चलाई गईं।
बता दें कि जाफराबाद में सीएए के विरोध में पिछले डेढ़ माह से सड़क के किनारे टेंट लगाकर महिला प्रदर्शनकारी धरने पर बैठे हैं। जाफराबाद मुस्लिम बहुल इलाका है। शनिवार रात ये प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर गए। इसकी वजह से जाफराबाद रोड बंद हो गया। भीड़ को देखते हुए पुलिस व अतिरिक्त सुरक्षा बल मौके पर मौजूद रहे। रविवार सुबह पुलिस अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर मौजपुर से सीलमपुर जाने वाले एक रास्ते को खुलवा लिया। लेकिन सीलमपुर से मौजपुर जाने वाला मार्ग बंद रहा। इस बीच दोपहर तीन बजे कुछ लोग सीएए के समर्थन में मौजपुर लाल बत्ती पर सड़क बंद करने के विरोध में एकत्रित हो गए। तभी कबीर नगर की तरफ से सीएए के समर्थन में बैठे लोगों पर पत्थरबाजी हो गई। इसके बाद मौजपुर तिराहा और बाबरपुर बस टर्मिनल पर जिहादियों की भीड़ तलवारों और पत्थरों के साथ बाहर निकल आई। भीड़ के सामने पुलिस की मौजूदगी बेअसर होने लगी। लोगों ने करीब 30 मिनट तक जमकर पथराव किया। इसमें कई लोग जख्मी हो गिए। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। लेकिन इससे भी हालात पर नियंत्रण नहीं हो सका। खबर लिखे जाने तक मौके पर तनाव के हालात बने हुए थे। पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रास्ते बंद किए हुए हैं लेकिन मुस्लिम इलाकों से लगातार पत्थरबाजी हो रही है।