यमुनापार में हालात बेकाबू, आगजनी, पथराव जिहादी भीड़ ने पेट्रोल पंप फूंका, एक पुलिसकर्मी की मौत
   दिनांक 24-फ़रवरी-2020

fire _1  H x W: 
 
 मुसलमानों की भीड़ ने फूंका भजनपुरा पेट्रोल पंप
नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध और समर्थन में यमुनापार के विभिन्न इलाकों में हालात बेकाबू हो गए हैं। वजीराबाद रोड पर प्रदर्शन कर रही मुसलमानों की भीड़ ने कई गाड़ियों को फूंक डाला है। भजनपुरा पेट्रोल पंप को भी जिहादी भीड़ ने आग के हवाले कर दिया। पुलिस यहां बेबस दिखाई दी। कई पुलिसकर्मियों को गंभीर चोट आई है। गोकलपुरी थाने में तैनात एक रतनलाल नाम के सिपाही की मौत हो गई। झड़प में शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा भी घायल हुए हैं।

fire _1  H x W:
 
 
वजीराबाद रोड पर पथराव करती मुसलमानों की भीड़
रविवार शाम को जाफराबाद, कबीरनगर, कर्दमपुरी, करावलनगर क्षेत्र में हुई हिंसा के बाद देर रात अ​र्धसैनिक बल पूरे इलाके में तैनात कर दिए गए थे। इस बीच पूरी रात अफवाहें उड़ती रही। कबीर नगर इलाके में मुसलमानों की भीड़ ने रह रहकर छतों से पथराव किया। उनको रोकने गए कई पुलिसकर्मियों को गंभीर चोट आई। कई पुलिसकर्मियों के सिर भी फोड़ दिए गए। सुबह करीब 10 बजे सीएए के समर्थन में लोग मौजपुर चौक पर जुटने शुरू हुए। सीएए का समर्थन कर रहे लोग शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे तभी कबीर नगर की तरफ से पथराव शुरू हो गया। इसमें कई लोगों को चोटें आईं। मौके पर पहुंची पुलिस ने जैसे—तैसे स्थिति को संभाला। जाफराबाद इलाके में तीन घरों और कई दुकानों को आग लगा दी गई। भारी पुलिसबल तैनात होने के बाद भी उपद्रवियों पर काबू नहीं पा जा रहा है। जाफराबाद, चांदबाग, कबीरनगर आदि जितने भी मुस्लिम इलाके हैं वहां सरेआम ह​थियार लहराए जा रहे हैं। फायरिंग की जा रही है। जाफराबाद में एकत्रित हुई मुसलमानों की भीड़ की तरफ से कई राउंड फायरिंग की गई। इसके चलते दो लोगों के घायल होने की सूचना है।
15 से ज्यादा पुलिसकर्मी जख्मी, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले

fire _1  H x W:
जाफराबाद रोड पर मौजपुर तिराहे के पास जमकर पथराव और फायरिंग हुई। पथराव में पांच पुलिसकर्मियों सहित 15 से अधिक लोग जख्मी हो गए। कबीर नगर में घरों की छत से लोग पत्थर और कांच की बोतलें फेंकते रहे। स्थिति ऐसी हो गई कि पुलिस की तरफ से लगाए गए बैरिकेड के अलावा डिवाइडर को भी तोड़ दिया गया। मौजपुर रोड विजय पार्क की तरफ से आई मुसलमानों की भीड़ ने जमकर पथराव किया। सड़क के बीच लगी पत्थरों की रेलिंग भी भीड़ ने क्षतिग्रस्त कर दिया। भीड़ इतनी ज्यादा थी कि आंसू गैस के गोले चलाने के बाद भी पुलिस को पीछे हटना पड़ा।