भाजपा पार्षद ने बचाई मुस्लिम परिवार की जान तो आप पार्षद के घर से हुई आगजनी
   दिनांक 27-फ़रवरी-2020
यमुना विहार इलाके से भाजपा पार्षद प्रमोद गुप्ता जहां मुस्लिम परिवार की जान बचाने के लिए अपनी जान की परवाह न करते हुए दंगाइयों के आगे खड़े हो गए तो वहीं आप के पार्षद ताहिर हुसैन के घर से उन्मादियों ने जमकर आगजनी की

delhi violance _1 &n
चांदबाग इलाके में रहने वाले नेहरू विहार से आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन के घर जुटी उन्मादी भीड़ ने हिंदुओं पर पेट्रोल बम और पत्थर बरसाए। आईबी में काम करने वाले अंकित शर्मा को बर्बरता मारकर उनका शव पार्षद के घर के पीछे स्थित नाले में फेंक दिया। वहीं यमुना विहार इलाके से भाजपा के एक पार्षद प्रमोद गुप्ता ने दंगों में फंसे एक मुस्लिम परिवार की जान बचाई। उन्होंने न सिर्फ इस परिवार के सदस्यों की जान बचाई बल्कि उनके घर को आग के हवाले होने से भी बचा लिया।
घटना 25 फरवरी रात साढ़े 11 बजे की बताई जा रही है। यमुना विहार इलाके में रहने वाले प्रमोद गुप्ता भाजपा से पार्षद हैं। उनके इलाके में शाहिद सिद्दीकी अपने परिवार के साथ रहते हैं। शाहिद के परिवार से उनकी बरसों पुरानी जानपहचान है। 25 फरवरी की रात हिंसा प्रभावित इलाके में इस मुस्लिम परिवार के घर को भीड़ आग के हवाले करने वाली थी. इसी दौरान प्रमोद गुप्‍ता भी वहां पहुंच गए. उन्‍होंने परिवार को हिंसक भीड़ से बचाया
भाजपा पार्षद उनके घर की ओर बढ़ती 150 लोगों की भीड़ के आगे खड़े हो गए और इसे सिद्दीकी के घर पर हमला करने और उसे आग लगाने से रोक लिया. उनके समझाने के बाद उपद्रवी वहां चले गए। इस बीच उनकी मदद से शाहिद सिद्दीकी अपने दो महीने के बच्चे और परिवार सहित जान बचाकर वहां से सुरक्षित निकल पाए। वहीं आम आदमी पार्टी के टिकट पर नेहरू विहार से पार्षद ताहिर हुसैन के घर में जुटी उन्मादी ने भीड़ ने हिंसा का नंगा नाच किया। हुसैन के घर मेें जमा अल्लाह हो अकबर के नारे लगाती हुई आगजनी करती उन्मादी भीड़ का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो चुका है। ताहिर हुसैन के घर के बराबर में स्थित नाले से आईबी में काम करने वाले खजूरी खास के रहने वाले अंकित शर्मा की लाश बरामद होने के बार जब पुलिस हुसैन के घर तलाशी लेने पहुंची तो वहां पेट्रोल बम का जखीरा, गुलेल और बोरियों में भरे पत्थर बरामद हुए। अब हुसैन सफाई देने में जुटा है कि उन्हें नहीं पता कि उनके घर में पेट्रोल बम कैसे आए, किसने बम फेंकें। हुसैन का कहना है कि उन्हें पुलिस पहले ही वहां से निकाल कर ले गई थी। जो भी घटना हुई इसके बाद बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।