दिल्ली दंगा: पहले अंकित के हाथों पैरों को तोड़ा गया फिर 400 से ज्यादा बार चाकुओं से गोदकर मारा गया
   दिनांक 28-फ़रवरी-2020
इंटेलिजेंस ब्यूरो में काम करने वाले अंकित शर्मा (Ankit Sharma) की हत्या किस बर्बरता से की गई यह सुनकर जल्लादों का भी दिल दहल जाए। पहले उनके हाथों और पैरों को तोड़ा गया, फिर 400 से ज्यादा बार चाकुओं से गोदा गया। अंकित की आंतें बाहर निकल आईं और उन्होंने तड़प—तड़पकर दम तोड़ा

ankit _1  H x W
आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन के घर पर जुटी उन्मादी भीड़ ने आईबी में सिक्योरिटी अस्सिटेंट अंकित शर्मा के बाद इतनी बर्बरता की कि सुनकर शैतान का भी दिल पसीज जाए, लेकिन मुसलमानों की उन्मादी भीड़ ने उन पर जरा भी दया नहीं दिखाई।
जब अंकित की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने है तो कई ऐसी चीजें निकलकर आई हैं जिनके बारे में जानना बेहद जरूरी है ताकि बर्बरता की सारी कहानी सबके सामने आए।
जीटीबी अस्पताल में अंकित के शव का पोस्टमार्टम हुआ। जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई तो पता चला कि उन्मादी जिहादियों की भीड़ ने अंकित पर 400 से अधिक चाकू के वार किए थे। इतना ही नहीं अंकित को मारने से पहले उनके दोनों हाथ और पैरों को तोड़ गया। अंकित के पोस्टमार्टम व ऑटोप्सी रिपोर्ट से यह जानकारी सामने आई है। अंकित के रीढ़ की हड्डी में भी गंभीर चोट के निशान मिले हैं।
उल्लेखनीय है कि 25 फरवरी को डयूटी खत्म करने के बाद अंकित शर्मा अचानक लापता हो गए थे। बाद में उनका शव चांदबाग इलाके में आप पार्षद ताहिर हुसैन के बराबर में बरामद नाले से मिला। अंकित के पिता और उनके भाई का आरोप है कि ताहिर हुसैन के घर जमा हुई उन्मादी भीड़ ने उन्हें घर के अंदर खींच लिया था और बाद में तड़पा—तड़पा कर उन्हें मार डाला गया। स्थानीय लोगों का भी कहना है कि आप पार्षद ताहिर हुसैन के इशारे पर ही चांदबाग में उन्मादी भीड़ ने हिंसा का नंगा नाच किया। बृहस्पतिवार को जब पुलिस ताहिर हुसैन के घर तलाशी के लिए पहुंची तो वहां पेट्रोलबम और तेजाब का जखीरे के साथ भारी मात्रा में पत्थर मिले। छत लोहे के दो गाटरों को बांधकर एक बड़ी गुलेल बनाई गई थी, जिसके माध्यम से दूर तक पेट्रोल बम फेंके जा रहे थे। हुसैन के घर का वायरल वीडियो इस बात की गवाही दे रहा है।