ब्रह्मलीन हुए कैंसर पीडि़तों के देवता
   दिनांक 03-फ़रवरी-2020

a_1  H x W: 0 x 
 
पिछले कई दशक से कैंसर समेत कई असाध्य बीमारियों के उपचार के लिए प्रसिद्ध बाबा कमलनाथ गत दिनों ब्रह्मलीन हो गए। राजस्थान स्थित अलवर के तिजारा-गहनकर गांव के बाबा कमलनाथ 123 साल के थे। उन्होंने जड़ी-बूटियों के जरिए हजारों कैंसर पीडि़तों का नि:शुल्क उपचार किया। उनका संयमित जीवन प्राणी मात्र की सेवा, परमात्मा की भक्ति में अटूट श्रद्धा थी। अध्यात्म से गहरे लगाव के साथ वे 123 वर्ष की आयु में भी अपने दैनिक कार्य नित्य करते थे। उन्होंने अपने गुरु के समक्ष प्रयागराज में प्रण लिया था कि वे कभी रुपए पैसों की लेन-देन नहीं करेंगे, जिसे उन्होंने ताउम्र निभाया। बाबा स्वतंत्रता सेनानी रहे तथा नाथ संप्रदाय में दीक्षित संत थे।