Defense Expo 2020: आयातक नहीं अब निर्यातक बनने का समय
   दिनांक 06-फ़रवरी-2020
लखनऊ में पहली बार एशिया की सबसे बड़ी रक्षा प्रदर्शनी --डिफेन्स एक्सपो 2020 का आयोजन किया गया है. इसमें 50 हजार करोड़ रूपये का निवेश आने की संभावना है. इससे तीन लाख लोगों को रोजगार मिलेगा

DEFFANCE _1  H  
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिफेन्स एक्सपो के उद्घाटन के बाद कहा कि "आगामी पांच वर्षों में भारत 35 हजार करोड़ रुपए के रक्षा उत्पाद का निर्यात करेगा." मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि " अब भारतीय लोग भारत में बने यात्री विमान में सफ़र करेंगे. इस तरह के दो यात्री विमान जल्द ही लाए जा रहे हैं." यह आयोजन 5 फरवरी से 9 फरवरी तक चलेगा.
डिफेन्स एक्सपो का यह ग्यारहवां संस्करण है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में इसे पहली बार आयोजित किया गया है. 5 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका उदघाटन करते हुए कहा कि " भारत अगले पांच वर्षों में 35 हजार करोड़ रूपये के रक्षा उत्पादों का निर्यातक बन जाएगा. अब तक 17 हजार करोड़ रूपये का लक्ष्य हासिल किया जा चुका है. मानवता की रक्षा का जिम्मा भारत पर ही है. यहां पर निवेश किया गया एक-एक पैसा बड़ा रिटर्न देगा. उत्तर प्रदेश के अमेठी जनपद में रूस के सहयोग से एके -203 राइफल बनाई जायेगी. सत्तर वर्षों में किसी ने भी आत्मनिर्भरता की तरफ ध्यान नही दिया. रक्षा उत्पाद के निर्माण में सरकारी और निजी क्षेत्रों की बराबर की भागीदारी होनी चाहिए. उपयोगकर्ता और उत्पादक के बीच भागीदारी से राष्ट्रीय सुरक्षा को और अधिक मजबूत किया जा सकता है." इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि "इस डिफेन्स एक्सपो में 50 हजार करोड़ रूपये के निवेश की संभावना है. इससे तीन लाख लोगों को रोजगार मिलेगा."
रक्षा मंत्रालय के अधिकारी डॉ. अमित सहाय का मानना है कि “डिफेन्स एक्सपो 2020 एशिया का सबसे बड़ा डिफेन्स एक्सपो है.” "रक्षा का डिजीटल परिवर्तन" टैग लाइन पर आधारित डिफेंस एक्सपो 2020 में 1028 कंपनियां भाग ले रही हैं. इसमें 70 देशों की 272 कम्पनियां विदेशी हैं. इस डिफेन्स एक्सपो में 200 से ज्यादा एमओयू साइन होने की उम्मीद है. "इंडिया अफ्रीका डिफेन्स मिनिस्टर कॉन्क्लेव" का भी आयोजन होगा. कई देशों के रक्षा मंत्री इस कॉन्क्लेव में हिस्सा लेंगे. "इंडिया रशिया इंडस्ट्रियल मिलिट्री कॉन्फ्रेंस" होगी जिसमें रूस के उद्योगमंत्री और भारत के रक्षामंत्री शामिल होंगे. डिफेन्स एक्सपो में इंडिया पवेलियन बनाया गया है. इस इंडिया पवेलियन में 80 कम्पनियों के 190 उत्पाद दिखाए गए हैं. इंडिया पवेलियन की तर्ज पर यूपी पवेलियन बनाया गया है. यूपी पवेलियन में डिफेंस कॉरिडोर में निवेश की संभावनाओं को दर्शाया गया है.
यूपी पुलिस के स्टॉल पर 112 आपात सेवा , एटीएस और यूपी कॉप ऐप का प्रदर्शन किया गया है. स्टॉल पर दिखाया गया है कि यूपी पुलिस कुंभ जैसे बड़े आयोजनों को संपन्न कराने के साथ ही साथ राष्ट्र विरोधी तत्वों और आतंकवादियों को भी धूल चटाने की ताकत रखती है. डिफेन्स एक्सपो में यूपी पुलिस के आधुनिक हथियारों का भी प्रदर्शन किया गया है. विषम परिस्थितियों में रेकी करने के लिए उपयोग होने वाले आधुनिक फाइबर ऑप्टिकल कैमरे का प्रदर्शन भी किया गया है. यह भी प्रदर्शित किया गया है कि तकनीक का प्रयोग करके कोई भी अपनी शिकायत ऐप के माध्यम से पुलिस में दर्ज करा सकता है.
भारत में निर्मित यात्री विमान पर सफ़र करेंगे भारतीय -- योगी आदित्यनाथ

DEFFANCE _1  H
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डिफेन्स एक्सपो -2020 के उद्घाटन के ठीक पहले कहा कि " हम सब के लिए एक अवसर आया है कि जब देश के प्रधानमंत्री की भावनाओं के अनुरूप प्रदेश में डिफेंस सिस्टम के लिए हम सभी लोग बेहतर कार्य कर रहे हैं. दो वर्ष पूर्व प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी ने दो डिफेंस कॉरिडोर में से एक डिफेन्स कारीडोर उत्तर प्रदेश को दिया था. डिफेंस में निवेश के लिए उत्तर प्रदेश में अपार संभावनाएं हैं. उत्तर प्रदेश के पास पर्याप्त भूमि की उपलब्धता है. उत्तर प्रदेश सरकार एच.ए.एल के साथ एमओयू साइन करने जा रही है. पहली बार है जब भारत में बने हुए यात्री विमान पर भारतीय लोग हवाई यात्रा कर सकेंगे. एच.ए.एल ने बहुत बढ़िया तकनीक का 19 सीटर यात्री विमान का निर्माण किया है. यह एक बहुत ही बड़ी उपलब्धि है. इस प्रकार के दो विमानों के आने के बाद एयर कनेक्टिविटी बढ़ेगी. प्रधानमंत्री जी ने एक बार कहा था कि हवाई चप्पल पहनने वाला भी हवाई जहाज में सफ़र करे. उसी दिशा में हम लोग कार्य कर रहे हैं. जब हमारी सरकार बनी थी तब केवल दो एयरपोर्ट काम कर रहे थे. इसम समय 11 एयरपोर्ट कार्य कर रहे हैं. इस वर्ष के अंत तक पूर्वांचल एक्सप्रेस के मुख्य मार्ग को चालू कर दिया जाएगा. जेवर और कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाने का कार्य प्रगित पर है. इसी माह 29 फरवरी को बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का हम शिलान्यास करने जा रहे हैं. यह एक्सप्रेस - वे बुंदेलखंड की अर्थव्यवस्था में आमूल - चूल परिवर्तन लाएगा. आवश्यकता पड़ी तो गंगा एक्सप्रेस-वे को हरिद्वार तक ले जाया जाएगा."
वैश्विक संबंधों का सूत्रधार बनने जा रहा है उत्तर प्रदेश: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि “डिफेंस एक्सपो-2020 का मुख्य उद्देश्य अपने देश को सुदृढ, सशक्त और समृद्धशाली बनाना है. आज लखनऊ में कई महीनों की मेहनत, अपना स्वरूप ले रही है. उत्तर प्रदेश सरकार ने जिस तरह डिफेंस एक्सपो की तैयारी की है. उसके लिए मै मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद देता हूं. जितना हमने सोचा था उससे भी बड़ा डिफेन्स एक्सपो हो रहा है. इस डिफेन्स एक्सपो से हमें तेजी से बदल रही टेक्नोलॉजी को समझने का मौका मिलेगा. भारत जैसा विशाल देश इंपोर्टेड आर्म्स पर ज्यादा दिन तक निर्भर नहीं रह सकता है. यह इवेंट हमे अपने लक्ष्य की प्राप्ति में मदद करेगा. उत्तर प्रदेश वैश्विक संबंधों का सूत्रधार बनने जा रहा है. दुनिया भर में तेजी से बदल रही तकनीक को जानने, समझने और उससे जुड़ने के लिए डिफेंस एक्सपो-2020 एक महत्वपूर्ण आयोजन है. हम भारत को डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग के रूप में तैयार कर रहे हैं और इसके लिए डिफेंस एक्सपो उचित प्लेटफॉर्म साबित होगा. मेक इन इंडिया को प्रमोट करने के लिए भी यह आयोजन सहायक होगा.
राफेल आदि लड़ाकू विमानों के करतब देखकर दंग रहे गए लोग

DEFFANCE _1  H
उदघाटन के बाद डेयरडेविल्स ने रोंगटे खड़े कर देने वाले कारनामे दिखाए. आग की लपटों से निकल कर हर विषम परिस्थिति से निकलने का प्रदर्शन किया. बाइक पर सोते हुए चलना और अखबार पढ़ना भी काफी सराहनीय प्रदर्शन था. इसके बाद 8 हजार फीट की ऊंचाई से पैराजम्पर्स ने छलांग लगाई और सफलता पूर्वक जमीन पर पैराशूट लेकर उतरे. एयर शो में सूर्य किरण के करतब देखकर सभी लोग हैरान रह गए. 9 विमानों पतंग की आकृति में आसमान की ऊंचाई में गए और उसके बाद टीम लीडर के निर्देश पर आसमान में अलग - अलग दिशाओं में बिखर गए. आसमान की ऊँचाई से टीम लीडर की आवाज सभी तक पहुंचाई गई. उन्होंने सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया. इसके अलवा तेजस, राफेल , सुखोई -30 , जगुवार एवं चिनूक आदि लड़ाकू विमानों के करतब देखकर सभी लोग दंग रह गए. इस एयर शो के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी , रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह , राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उपस्थित रहे .