देहरादून में विसंके की वार्षिकी -2019 का लोकार्पण
   दिनांक 16-मार्च-2020
a_3  H x W: 0 x
वार्षिकी का लोकार्पण करते हुए (बाएं से) लक्ष्मीप्रसाद जायसवाल, 
विजय कुमार, सुरेन्द्र मित्तल, डॉ. अन्नपूर्णा, राकेश जैन और डॉ़ देवेन्द्र भसीन
 
गत 8 मार्च को विश्व संवाद केन्द्र, देहरादून की वार्षिकी-2019 का लोकार्पण समारोह स्थानीय नगर निगम सभागार में सम्पन्न हुआ। यह वार्षिकी गत तीन साल से लगातार प्रकाशित की जा रही है।
 
इसमें सालभर की महत्वपूर्ण राष्टÑीय तथा अन्तरराष्टÑीय घटनाओं का विश्लेषण प्रतिष्ठित लेखक तथा पत्रकारों द्वारा किया जाता है। राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ की पर्यावरण संरक्षण गतिविधि के राष्टÑीय सह संयोजक राकेश जैन इस अवसर पर मुख्य वक्ता के नाते उपस्थित थे। ‘पर्यावरण की रक्षा में हमारी भूमिका’ पर राकेश जैन ने कहा कि यंू तो संघ पिछले काफी समय से पर्यावरण के क्षेत्र में काम कर रहा है, पर गत तीन साल से इसे विधिवत एक गतिविधि का रूप दिया गया है।
 
संघ मुख्यत: तीन बातों पर ध्यान दे रहा है। ये हैं वृक्षारोपण, जल संरक्षण तथा पॉलिथीन से बचाव। इसके लिए राष्टÑीय तथा राज्य स्तर पर लगातार काम हो रहा है। जहां एक ओर स्वयंसेवकों को इसके लिए प्रेरित किया जा रहा है, वहीं इस क्षेत्र में जिन लोगों ने अच्छा काम किया है, उनसे संपर्क कर उनके अनुभवों से लाभ उठाया जा रहा है। उन्होंने देशभर में काम कर रहे ऐसे व्यक्तियों और संस्थाओं के कई उदाहरण दिए। उन्होंने सबसे ‘पेड़ लगाओ, पानी बचाओ और पॉलीथीन हटाओ’ के उद्घोष लगवाए। कार्यक्रम की अध्यक्ष द्रोणस्थली आर्श कन्या गुरुकुल महाविद्यालय, देहरादून की पूर्व प्राचार्य डॉ़ अन्नपूर्णा ने कहा कि वेदों में पृथ्वी को मां कहा गया है। इसलिए हमें अपनी पृथ्वी के संरक्षण के लिए सदैव तत्पर रहना चाहिए।
 
कार्यक्रम का संचालन वार्षिकी के सम्पादक डॉ़ देवेन्द्र भसीन ने किया। विश्व संवाद केन्द्र की नियमित गतिविधियों का परिचय केन्द्र के सचिव राजकुमार टांक ने तथा वार्षिकी का परिचय सह सम्पादक लक्ष्मीप्रसाद जायसवाल ने दिया।