कोरोना को हराने के लिए देश हुआ एकजुट
   दिनांक 22-मार्च-2020
वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना को हराने के लिए जो एकजुटता भारत ने दिखाई उसका कोई सानी नहीं, यदि सभी ऐसे ही एकजुटता दिखाते रहे तो इस जंग को निश्चित जीत जाएंगे

corona _1  H x
फतेहपुर सीकरी की दरगाह से सायरन बजाकर उन सभी का आभार व्यक्त किया गया जो कोरोना से लड़ने के लिए समाज को अपनी सेवाएं दे रहे हैं
शाम के पांच बचते ही दिल्ली के लोग अपने घरों की छत, बालकनी, मैदान, घर के आंगन, बड़ी बड़ी इमारतों से बाहर निकल आते हैं. इन सभी के हाथों में घंटी,थाली,शंख होते हैं जिसे वह बजाते हुए उन कर्मवीरों का अभिनंदन करते हैं जो कोरोना के खिलाफ जंग छेड़े हुए हैं और विषम परिस्थिति में भी समाज के लिए अपनी सेवाएं देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे. सभी लोग उनका अभिनंदन करते हुए उनके काम को सैल्यूट करते हैं. इस दौरान मजहब, पंथ, मत, विचार सब गौण होता है. अगर किसी के दर्शन होते हैं तो एक सूत्र में पिरोए भारतीय समाज के, विविधता से भरे भारत के. शायद यही भारत की ताकत है जो दूसरों से उसे अलग और अनूठा बनाती है.
लेकिन यह तो आम नजारा था जो सभी ने देखा और सुना. लेकिन इस दौरान कुछ ऐसा भी हुआ जिसने भारत की असल पहचान को सबके सामने लाया. पांच बजे जिस एकजुटता का परिचय दिल्ली के हर कोने से दिया गया उसने बताया कि हमारे मुद्दे अलग हो सकते हैं, विषयों पर बहस हो सकती है, मामलों पर मतभिन्नता हो सकती है लेकिन जब बात देश की आती है तो भारत के लोग एकजुट हो जाते हैं. धर्म, मजहब, मत-पंथ से इतर मानवता सर्वोपरी हो जाती है. कुछ ऐसा ही नजारा शाम होते होते दिल्ली के बाटला हाउस, ओखला के जौहरी फार्म और पुरानी दिल्ली के मुस्लिम बहुल इलाकों में दिखाई दिया जब स्थानीय लोग प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर ताली और थाली के साथ घरों की छत, बालकनी पर जुटे. इस दौरान जमकर उन्होंने जमकर थाली और तालियां बजाकर उनका अभिनन्द किया जो कठिन परिस्थिति में समाज की सेवा में लगे हुए हैं.
विरोधी भी दिखे एक
प्रधानमंत्री के हर अच्छे काम में गलतियां निकालने और आलोचना करने वाले भी शाम पांच बजे अपनी बालकनी में कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे कर्मवीरों का अभिनन्द करते देखे गए.इसमें सबसे पहला नाम लुटियन पत्रकार राजदीप सरदेसाई और सागरिका घोष हैं। प्रधानमंत्री की अपील पर वह भी अपनी बालकनी से बाहर आए और तालियां बजाकर अभिनंदन करते हुए दिखाई दिए. तो दूसरी तरफ महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार भी अपने परिवार के साथ तय समय पर घर से निकले और कारोना से लडऩे वाले डाक्टरों, नर्सों और पुलिस कर्मियों के प्रति आभार व्यक्त किया है.