देर आए दुरुस्त आए,आखिरकार दिल्ली में लागू हुई आयुष्मान भारत योजना
   दिनांक 24-मार्च-2020
दिल्ली सरकार आम जनता के स्वास्थ्य बीमा के मामले में जिस योजना का दम भर रही थी, वह राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना पहले ही सम्बद्ध अस्पतालों के सहयोग न देने की वजह से ठप हो गई थी

kejriwal _1  H
लंबे समय से राज्य और केन्द्र सरकार के टकराव के कारण अटकी आयुष्मान भारत योजना को आखिरकार सोमवार को दिल्ली के बजट में मंजूरी दी गई है। अन्य राज्यों की तरह दिल्लीवासी भी अब आयुष्मान भारत योजना का लाभ ले सकेगें। केजरीवाल देर से ही सही पर दुरुस्त आए.
इससे पहले केजरीवाल सरकार लगातार इस योजना का विरोध कर रही थी, सरकार का कहना था कि दिल्ली में पहले से ही राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना संचालित है, ऐसे में आयुष्मान का कोई लाभ नहीं मिलेगा, जबकि कांग्रेस के कार्यकाल में लागू हुई राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना कई साल पहले ही दिल्ली में दम तोड़ चुकी थी।
उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बजट भाषण प्रस्तुत करते हुए सोमवार को सदन में इसकी जानकारी दी। मालूम हो कि पश्चिम बंगाल की तरह केजरीवाल सरकार भी आयुष्मान योजना को निजी बीमा कंपनियों को लाभ देने वाली योजना बताती रही है। अब तेलंगाना और पश्चिम बंगाल को छोड़कर देश के सभी राज्यों में आंशिक या पूर्ण रूप से आयुष्मान भारत योजना को लागू कर दिया गया है। आयुष्मान भारत योजना के छह महीने की रिपोर्ट में दो करोड़ से अधिक लोगों के इसका लाभ लेने की बात कही गई, योजना पर केन्द्र सरकार ने छह महीने 21000 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।