वुहान वायरस: कब सुधरेंगे कट्टरपंथी, पटना में विदेशी मुसलमानों को मस्जिद में छिपाकर रखा
   दिनांक 24-मार्च-2020
संजीव कुमार
पटना के कुर्जी स्थित मस्जिद से 12 संदिग्ध विदेशी पकड़े गये हैं। ये सारे विदेशी कुर्जी के गेट नं.-74 स्थित मस्जिद में छुपे थे। लोगों की शिकायत के बाद पुलिस वहां पहुंची और उन्हें जांच के लिए अपने साथ लेकर गई

patna muslim in mosque _1
पूरा विश्व चीनी वायरस (कोविड-19) से जूझ रहा है। एक प्रकार से पूरे विश्व में हाई अलर्ट है। भारत के कई राज्यों में लाॅक डाउन की स्थिति है। बिहार के सभी 38 जिलों में भी लाॅकडाउन है। लेकिन, बिहार के अलग-अलग हिस्सों से जो खबरें आ रही हैं, वह रोंगटे खड़ी कर देनेवाली है। बिहार के कुछ हिस्सों में मस्जिदों से विदेशी पकड़ा रहे हैं।
पटना के कुर्जी स्थित मस्जिद से 12 संदिग्ध विदेशी पकड़े गये हैं। ये सारे विदेशी कुर्जी के गेट नं.-74 स्थित मस्जिद में छुपे थे। आसपास के इलाकों में तीन मस्जिदें हैं, जिसमें- कुर्जी मस्जिद, बांस कोठी मस्जिद और जमखादी मस्जिद हैं। इन विदेशियों की जानकारी जब स्थानीय लोगों को हुई तो उनलोगों ने अपनी सुरक्षा को लेकर हंगामा मचाना शुरू किया। पुलिस को सूचना दी गई। उसके बाद पुलिस पुलिस ने इन सबको मस्जिद से खाली कराया।
स्थानीय लोगों का कहना है कि वास्तव में कुर्जी इलाके में 25 से 30 विदेशी आकर रह रहे हैं। इनमें से कई इटली और ईरान के हैं। पुलिस के हत्थे सिर्फ 12 ही चढ़े। अन्य की तलाशी ली जा रही है। इनकी पहचान और आने के रास्ते को लेकर प्रशासन कुछ नहीं बता रहा है।
इस तरह कंकड़बाग स्थित हनुमान नगर के हरदेव अपार्टमेंट में एक संदिग्ध पिछले चार दिनों से है। यह संदिग्ध सउदी अरब से आकर छुपा हुआ है। पड़ोसी पुलिस को बुला रहे थे। न तो वह व्यक्ति पुलिस के पास गया और न पुलिस ने उसे जाने के लिए बाध्य किया।
पटना के बिहटा के समीप समसारा पानी टंकी स्थित मस्जिद में भी काफी लोगों का जमावड़ा देखा गया। पता करने पर जानकारी मिली की सबलोग बाहर से यहां आकर रह रहे हैं। स्थानीय लोगों ने जबरन उन्हें मस्जिद से बाहर कर दिया। इनकी संख्या 30 से ऊपर थी। ये यहां काफी दिनों से रह रहे थे। स्थानीय न होने के कारण कई लोगों ने इसकी शिकायत जब की तो मजबूरन उन्हें मस्जिद खाली करके जाना पड़ा। बिहार के लोग बार-बार मांग कर रहे हैं कि बिहार के सभी मस्जिदों की सघनता से जांच हो और उन्हें खाली कराया जाए।