अलीगढ़: सीएए को लेकर मुस्लिम महिलाओं से जबरन दिलवाया जा रहा धरना
   दिनांक 05-मार्च-2020
 
aligarh _1  H x
अलीगढ़ जनपद में अभी हाल ही में एक मुस्लिम महिला का वीडियो वायरल हुआ जिसमें सीएए और एनआरसी के चल रहे विरोध की पोल खुल गई । वीडियो में मुस्लिम महिला ने अपने पति के सामने इस बात को कई बार कहा कि उसे जबरदस्ती धरने पर भेजा जाता था । अब अलीगढ़ जनपद में इस तरह के कुछ और मामले सामने आए हैं । बुधवार को कुछ मुस्लिम महिलाओं ने आरोप लगाया कि सीएए का विरोध करने के लिए उन लोगों को जबरदस्ती वहां पर भेजा रहा है। धरना स्थल पर जाने से इंकार करने पर घर मे घुस कर मारा पीटा जा रहा है। मारपीट करने वाले देश द्रोही नारे भी लगाते हैं। इस तरह की प्रताड़ना से तंग आकर पीड़ित महिलाओं ने अलीगढ़ जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मिलकर घटना की लिखित शिकायत की।
अलीगढ़ जनपद के शाहजमाल की निवासिनी मीना बेगम ने अपनी तहरीर में आरोप लगाया कि 3 फ़रवरी को उसके पति निज़ाम खान घर मे थे । करीब शाम का 4 बजे हुआ था। तभी कुछ लोग आए उन्होंने निज़ाम खान को बाहर बुलाया। जब निज़ाम खान बाहर निकले तो उन लोगों ने कहा कि अपनी बीवी को भेज दो। कल प्रशासन से आर - पार की लड़ाई लड़ना है। उन लोगों से निज़ाम खान ने कहा कि "धरना स्थल पर मैं अपनी बीवी को नही भेजूंगा।" इसके बाद वो लोग गाली देने लगे और करीब 10 की संख्या में घर के अंदर घुस आए और कहा कि धरना स्थल पर चलना पड़ेगा। उन लोगों ने देश विरोधी नारे लगाने के लिए भी कहा।
शाहजमाल की रहने वाली रेहाना नेे आरोप लगाया कि तीन युवक आए थे और उन लोगों ने धरना स्थल पर चलने के लिए कहा । जब धरना स्थल पर जाने से इंकार कर दिया तब तीनों युवकों ने मारपीट की और देश द्रोह के नारे भी लगाए।
अलीगढ़ जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ,मुनिराज ने बताया कि कुछ महिलाओं ने इस संबंध में शिकायत की है। इस मामले की जांच कराई जा रही है। साक्ष्य मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।
अलीगढ़ के विधायक संजीव राजा ने कहा कि कोई भी सीएए और एनआरसी के विरोध में नही है। कुछ लोग हैं जो जानबूझकर महौल खराब करने के लिए विरोध -प्रदर्शन करवा रहे हैं। अब इन लोगों की भी सचाई सामने आ गई है।