देश से है प्‍यार तो करें ‘समाधान’ चुनौती स्‍वीकार

    दिनांक 10-अप्रैल-2020   
Total Views |
देश में कोरोना वायरस संकट गहराता जा रहा है। संकट के इस दौर में केंद्र सरकार कुछ महत्‍वपूर्ण कदम उठा रही है, जिसके दूरगामी परिणाम देखने को मिल सकते हैं। खासतौर से शोध-अनुसंधान की दिशा में उठाए जा रहे कदम सराहनीय हैं। इसके तहत सरकार छात्र-छात्राओं में नए शोध की संभावनाएं एवं क्षमताओं को परख रही है ताकि भविष्‍य में कोरोना जैसी महामारी से तकनीकी एवं व्यावसायिक रूप से निपटा जा सके

covid solution _1 &n
इसके लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नवोन्‍मेष इकाई (इनोवेशन सेल) और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने फोर्ज तथा इनोवेशिओक्‍यूरिस के साथ मिलकर एक मेगा ऑनलाइन चुनौती ‘समाधान’ की शुरुआत की है। इसका उद्देश्‍य विद्यार्थियों व फैकल्‍टी को नए प्रयोग तथा नई शोध के लिए प्रेरित करना तथा उनके शोध को मजबूत आधार उपलब्‍ध कराना है ताकि सरकारी एजेंसियों, स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं, अस्‍पतालों और अन्‍य सेवाओं को आपात चुनौतियों से निपटने में मदद मिले। साथ ही, ‘समाधान’ के तहत देश के लोगों को जागरूक बनाने, उन्‍हें किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए प्रेरित करने, किसी भी संकट से निपटने तथा रोजगार दिलाने में सहायता दी जा सकेगी।
‘समाधान’ स्‍पर्धा में भाग लेने के लिए 7 अप्रैल से आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। ऑनलाइन आवेदन https://www.mic.gov.in/samadhan/ पर करना होगा। आवेदन की अंतिम तिथि 14 अप्रैल है। चयनित उम्‍मीदवारों के नामों की घोषणा 17 अप्रैल, 2020 को की जाएगी। स्‍पर्धा के लिए चुने जाने वाले प्रतिभागी 18 से 23 अप्रैल तक अपनी प्रविष्टियां भेज सकेंगे। प्रतिभागियों की अंतिम सूची 24 अप्रैल, 2020 को जारी की जाएगी। इसके बाद ऑनलाइन निर्णायक समिति 25 अप्रैल, 2020 को अपना फैसला सुनाएगी।