अंतरराष्ट्रीय मानकों का ध्यान रखते हुए सेवा भारती ने शुरू की पैकिंग यूनिट

    दिनांक 10-अप्रैल-2020
Total Views |
लाॅक डाउन के दौरान सेवा भारती, दिल्ली ने ओखला में गरीब एवं जरूरतमंद परिवारों को राशन उपलब्ध कराने के लिए एक पैकिंग यूनिट की शुरूआत की है, जहां अंतरराष्ट्रीय मानकों का ध्यान रखते हुए कार्यकर्ता प्रतिदिन 2 हजार से ज्यादा राशन के पैकेट तैयार करते हैं

sewa bharti _1  
कोरोना संक्रमण के बाद सारे देश में लॉकडाउन चल रहा है। ऐसे वक्त में गरीब, दिहाड़ी मजदूरों और रोज कमाने वालों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हुआ है। लेकिन इस मुश्किल घड़ी में इन सभी परिवारों को भोजन का कोई संकट न होने पाए इसके लिए सेवा भारती, दिल्ली की ओर से युद्ध स्तर पर राहत अभियान जारी है। राजधानी में लाखों परिवारों को रोज भोजन और जरूरी राशन देने का काम किया जा रहा है तो वहीं हजारों स्वयंसेवक दिल्ली की गरीब बस्तियों में जरूरतमंदों को राशन मुहैया कराने में जुटे हुए हैं। गरीबों और दिहाड़ी मजदूरों के लिए सेवा भारती ने एक राशन की किट तैयार की है, जिसे दक्षिणी दिल्ली के ओखला इंडस्ट्रीज इलाके में तैयार किया जा रहा है। ओखला औद्योगिक क्षेत्र में सेवा भारती की इस पैकिंग यूनिट में रोज हजारों राशन के डिब्बों को तैयार किया जा रहा है। राशन के इन डिब्बों में 10 किलो आटा, 2 किलो चावल, 2 किलो दाल, 1 किलो चीनी, 1 लीटर तेल, चाय की पत्ती, गरम मसाला, हल्दी, नूडल्स और सूखे दूध के पैकट शामिल है।
साफ-सफाई का रखा जा रहा विशेष ध्यान
खास बात यह है कि राशन के इन डिब्बों को तैयार करने वाला स्टाफ पूरी तरह से पीपीई किट को पहनकर और कोरोना संक्रमण के पूरे प्रोटोकॉल को पूरा करते हुए पैकिंग के काम में जुटा है। पैकिंग की चार टेबल पर काम करने वाला स्टाफ सोशल डिस्टेंस का पालन करता है और पूरी तरह से डब्ल्यूएचओ के मानकों को पूरा करते हुए काम को अंजाम देता है। सेवा भारती की इस पैकिंग यूनिट से दिल्ली के कई इलाकों में गरीबों के घर राशन पहुंचाने का काम स्वयंसेवक कर रहे हैं। यूनिट के इंचार्ज सुकेत धीर ने बताया कि यहां पैक होने वाले डिब्बों को दिल्ली के अलग-अलग क्षेत्रों में ले जाने के लिए स्वयंसेवकों की टोलियां लगी हुई हैं, जिन्हें यहां से राशन के डिब्बे दिए जाते है। यह यूनिट प्रतिदिन 2 हजार डिब्बों को पैक करती है तो वहीं अब तक 50 हजार राशन के डिब्बों की आपूर्ति गरीब और जरूरतमंद लोगों के बीच की जा चुकी है।
उल्लेखनीय है कि संकट की इस घड़ी में सेवा भारती द्वारा तैयार कराए जा रहे राशन के इन डिब्बों से लाखों परिवारों के घर में चूल्हा चल रहा है और उन्हें दो वक्त की रोटी मिल रही है। सेवा भारती का विश्वास है कि लॉकडॉउन की अवधि तक यह सेवा कार्य निर्बाध गति से जारी रहेगा।