मुसलमानों ने सहारनपुर में किया पुलिस पर हमला, रामपुर में एसडीएम पर पथराव
   दिनांक 02-अप्रैल-2020
लॉकडाउन के दौरान मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोकने पर मुसलमानों की भीड़ ने सहारनपुर में पुलिस पर लाठी डंडों से हमला किया . वहीं रामपुर एसडीएम ने लॉकडाउन का पालन करने को कहा तो उन पर पथराव कर दिया

saha _1  H x W:
सहारनपुर जनपद में पुलिस को सूचना मिली कि बेहट कोतवाली क्षेत्र के गांव जमालपुर में स्थित मस्जिद के बाहर कुछ मुसलमान नमाज पढ़ने के लिए एकत्र हुए हैं. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उन लोगों को यह बताने का प्रयास किया कि कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए लॉकडाउन किया गया है इसलिए मस्जिद में एकत्र होकर नमाज न पढ़ें. इस पर मुसलमानों ने पुलिस पर हमला कर दिया. पुलिस ने छह महिलाओं समेत 26 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.
उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के चलते देशभर में धारा 144 लागू है जिसकी वजह से एक ही स्थान पर अधिक संख्या में लोगों का एकत्र होना गैर-कानूनी है मगर इसके बावजूद सहारनपुर के जमालपुर गांव में नमाज पढ़ने के लिए बुधवार को मस्जिद में भीड़ जमा हो गई थी. जैसे ही मुसलमानों की भीड़ ने पुलिस को देखा, लाठी- डंडों से हमला कर दिया. हमला करने वालों में आधा दर्जन से अधिक महिलाएं भी शामिल थीं. कुछ देर के संघर्ष के बाद पुलिस ने 6 लोगों को मौके पर ही हिरासत में ले लिया मगर मुस्लिम महिलाओं ने पुलिस की जीप को घेर लिया और हिरासत में लिए गए युवकों को फरार करा दिया. सहारनपुर जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार प्रभु ने बताया कि “मस्जिद में नमाज पढ़ने की सूचना पर पुलिस मौके पर गई थी. पुलिस टीम पर हमला किया गया. एफआईआर दर्ज करके आवश्यक कार्रवाई की जा रही है.”
उधर , उत्तर प्रदेश के रामपुर जनपद के टांडा में बुधवार की शाम को एसडीएम गौरव कुमार, तहसीलदार महेंद्र बहादुर सिंह कोतवाली थाने की पुलिस के साथ लॉकडाउन की स्थिति का जायजा ले रहे थे. जब वो लोग मोहल्ला - मियां वाली मस्जिद के पीछे पहुंचे तब वहां पर कुछ युवक भीड़ लगाए हुए थे. एसडीएम ने उन युवकों को घर जाने कहा इस पर युवकों ने घरों की छत पर पहुंच कर पथराव कर दिया. एसडीएम गौरव कुमार का कहना है कि “इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई है. पथराव करने वाले युवकों की पहचान कर ली गई है.