लाॅकडाउन के दिनों में ऐसे रखें अपनी सेहत का ख्याल
   दिनांक 02-अप्रैल-2020
रूपाली करजगिर
लाॅकडाउन के कारण सभी की दिनचर्या गड़बड़ हुई है। ऐसे में स्वास्थ्य विशेषज्ञों के सुझाव को मानकर अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं

lock _1  H x W:
वर्तमान में देश भर के सभी लोग  लॉकडाउन के कारण घर में ही हैं। ऐसे में घरों में रहने के चलते दिनचर्या पर असर पड़ा है तो दूसरी ओर मौसम भी बदल रहा है। गर्मी शुरू हो चुकी है। ऐसे में सेहत की तरफ विशेष ध्यान देने की जरूरत है। आप समझ लीजिये आपको रोज की व्यस्त तथा थका देने वाली दिनचर्या से हटकर, अपनी तरफ ध्यान देने के लिए मिले हैं। आप इन दिनों में खानपान संबंधी बातों का विशेष ध्यान रखकर अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं।
सुबह क्या करें
सबसे पहले, सुबह उठकर गुनगुना पानी पीना चाहिए। इससे हमारा पाचन तंत्र सुचारु रूप से कार्यरत रहता है। ध्यान रहे यदि हम रात में सो रहे हैं। हमे कार्य करने के लिए ऊर्जा की आवश्यकता नहीं होती, परंतु हमारे श्वसन तंत्र को, हमारे हृदय को, हमारे मस्तिष्क को कार्यरत रहने के लिए कुछ मात्रा में ऊर्जा लगती है तथा हम रात भर खालीपेट भी है, इसलिए उठने के आधे घंटे के अंदर हमें कुछ न कुछ खाना चाहिए। चाहे वह कुछ मेवे हों या कोई फल या एक कप दूध। परंतु ध्यान रहें चाय या कॉफी का सेवन दिन में सर्वप्रथम न करें।
दिन का सबसे पहला आहार हमारा नाश्ता होता है। इसलिए ये पेट भर, सुपाच्य, पोषक तत्वों से भरपूर होना चाहिए। इसमें बिना तला, बिना मीठा तथा कम नमक वाला नाश्ता ही करें। दिन के भोजन में दाल या अंकुरित, दही या एक ग्लास छांछ का सेवन अवश्य करें। दही या छांछ के सेवन से बदलते मौसम में हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बनी रहती है। रात का भोजन सोने के दो से तीन घंटे पहले तथा हल्का होना चाहिए। चूंकि रात को हम समान्यतः क्रियाशील कम होते हैं, इस समय हमें ऊर्जा की विशेष आवश्यकता भी नहीं होती। इसलिए कम मात्रा मे ही भोजन लें। रात को छोले, राजमा, तले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए। परंतु सलाद को इस समय भी प्राथमिकता दें। दिन भर बीच-बीच में मौसमी फल तथा भरपूर मात्रा में पानी अवश्य पीना चाहिए। प्रत्येक भोजन के बाद अजवाइन खाने की भी आदत डालें ताकि अजवाइन लिए गए भोजन को सुपाच्य बना सके।
भोजन पकाते समय रखें ख्याल
भोजन को पकाते समय कुछ विशेष चीजों का ध्यान रखना आवश्यक है, जिससे भोजन में उपस्थित पोषकतत्व बने रहे और हमारा शरीर स्वस्थ बना रहें। खाना बनाते समय नमक को सबसे अंत मे डालें, जिससे नमक में उपस्थित आयोडीन बना रहता है। आयोडीन ऊष्मा के साथ खत्म हो जाता है। यदि हम भोजन बनाते समय अंत में पकने पर नमक डालते हैं तो इसमें उपस्थित आयोडीन बना रहता है।
जब भी हम सब्जियों या फलों को काटते हैं तब हमेशा ध्यान में रखें कि हमें ज्यादा छोटे टुकड़े नहीं करने हैं। हम जितने ज्यादा छोटे टुकड़े करेंगे सब्जी या फल के सतह पर उपस्थित पोषक तत्व नष्ट हो जाएंगे। सब्जी काटने में भी धारदार चाकू का ही इस्तेमाल करना चाहिए।
जब भी हम किसी चीज को पकाएं, हमेशा बर्तन को ऊपर से ढक कर ही पकाएं। इससे भोजन में उपस्थित पोटेशियम, कैलशियम, जिंक जैसे बहुत से खनिज तत्व भाप के साथ नष्ट नहीं होते। उन्हें भोजन में बनाए रखने के लिए इस तरीके को अपनाना ही सही है।
खूब पिएं पानी
इन 21 दिनों में खानपान की आदतों को अपनाने के साथ ही हमें हमारे पानी के सेवन की तरफ भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। यदि दिन भर पानी कम पिया जा रहा हो तो, तीन से चार बोतलों में 1, 2, 3, 4 इस तरह निशान लगा लें। अब प्रत्येक बोतल को एक विशेष अंतराल तक खत्म करना टार्गेट बना लें। इस तरह पानी का सेवन भी दिन भर में भरपूर मात्रा में बना रहता है।
( लेखिका वरिष्ठ सलाहकार आहार विशेषज्ञ हैं )