उत्तर प्रदेश: रमजान में भीड़ जुटी तो होगी कार्रवाई

    दिनांक 22-अप्रैल-2020   
Total Views |
योगी आदित्यनाथ के कार्यालय के अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है। इसमें स्पष्ट कहा गया है कि रमजान का महीना प्रारंभ हो रहा है। इस अवधि में विशेष सावधानी बरती जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि सहरी व इफ्तार के समय किसी भी प्रकार से भीड़ एकत्र न होने पाए

yogi _1  H x W:
24 अप्रैल से रमजान का महीना शुरू हो रहा है। कोरोना महामारी की स्थिति को देखते हुए देशभर में लॉकडाउन लागू है। उत्तरप्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त निर्देश हैं कि किसी भी स्थि​ति में लॉकडाउन का पालन किया जाए। लॉकडाउन तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। 24 अप्रैल से रमजान का महीना शुरू हो रहा है। रमजान शुरू होने से पहले ही योगी आदित्यनाथ ने अपने इरादे जगजाहिर कर दिए हैं। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि रमजान के दिनों में भी लॉकडाउन का पालन करना होगा। योगी आदित्यनाथ के कार्यालय द्वारा किए गए ट्वीट में यह स्पष्ट कर दिया गया है कि इस अवधि में विशेष सावधानी बरती जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि सहरी व इफ्तार के दौरान किसी भी प्रकार से भीड़ एकत्रित नहीं होनी चाहिए। यहां तक कि अनिवार्य सेवाओं में संलग्न लोगों के मध्य भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित किया जाए।
उत्तर प्रदेश के 5 जनपद हुए कोरोना मुक्त
उत्तर प्रदेश से राहत पहुंचाने वाली खबर है। पीलीभीत, हाथरस, बरेली, प्रयागराज एवं महराजगंज जनपद अब कोरोना मुक्त हो चुके हैं. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश ऐसा पहला राज्य बन गया है जहां पर पूल टेस्टिंग की जा रही है.
उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस महामारी को काफी हद तक नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त की है. एक तरफ अन्य राज्य में जहां मरीजों की संख्या में काफी वृद्धि हो रही है. वहीं उत्तर प्रदेश में इसकी गति काफी कम है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के कई हिस्सों में अलग-अलग तरह से बैन लगाकर इस बीमारी पर शुरुआत से ही नियंत्रण करने का रास्ता तैयार कर लिया था. योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में लॉक डाउन को सफलता पूर्वक लागू करवाने एवं गरीब कल्याणकारी योजनाओं को जमीनी स्तर पर पहुंचाने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की अध्यक्षता में 11 कमेटियों का गठन किया. 23 करोड़ की आबादी वाला उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा राज्य है. जहां पर कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 15 अप्रैल तक 727 थी. जबकि वहीं महाराष्ट्र जहां पर कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की सरकार है. वहां की आबादी 11,26,72,972 है, वहां पर कोरोना संक्रमित की संख्या 2801 है. अगर आम आदमी पार्टी शासित नई दिल्ली को देखा जाए, तो 1.9 करोड़ की आबादी वाले इस राज्य में 14 अप्रैल तक संक्रमित मरीजों की संख्या 1561 थी. इस तरह से सबसे बड़ी आबादी वाले उत्तर प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या काफी कम है.