जमातियों को छिपाने वाले प्रोफेसर का कई मुस्लिम संगठनों से रिश्ता

    दिनांक 24-अप्रैल-2020   
Total Views |
प्रोफेसर पिछले दस वर्षों में कई देशों की यात्राएं कर चुका था। इन यात्राओं को देखते हुए पुलिस अब पुलिस मजहबी चंदे का विवरण खंगाल रही है


पुलिस की गिरफ्त में जमा​तियों को छिपाने वाला प्रोफेसर शाहिद
तब्लीगी जमातियों को शरण देने के आरोप में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के राजनीति विभाग के प्रोफेसर मो. शाहिद जेल भेजे जा चुके हैं. अब यह मामला जानकारी में आया है कि प्रोफ़ेसर शाहिद, विदेश के कई मुस्लिम संगठनों से जुड़े हुए हैं. प्रोफ़ेसर शाहिद थाईलैंड, कतर, हांगकांग, नीदरलैंड, मलेशिया, साउथ अफ्रीका, बांग्लादेश, जापान, कनाडा, इथोपिया, यूक्रेन, लन्दन, दुबई और केन्या जैसे देशों की यात्रा कर चुके हैं. नीदरलैंड और सऊदी अरब की यात्रा उन्होंने एक से ज्यादा बार की है. पुलिस का कहना है कि इन विदेश यात्राओं को देखते हुए विदेशी चंदे के बारे में पता लगाया जा रहा है. प्रोफेसर शाहिद किस- किस मजहबी संगठन के संपर्क में हैं और कितने विदेशी संगठनों ने चन्दा दिया है , इस दिशा में जांच की जा रही है.

उल्लेखनीय है कि प्रोफ़ेसर शाहिद तब्लीगी जमात में शामिल होने निजामुद्दीन के मरकज़ गए थे. प्रयागराज लौटने के बाद उन्होंने अपनी ट्रैवेल हिस्ट्री छिपाई थी. इंटेलीजेंस के द्वारा यह सूचना जब मिली तब उन्हें जिला प्रशासन ने क्वारंटीन कराया था. 21 अप्रैल को पुलिस ने प्रोफ़ेसर शाहिद समेत 30 लोगों को गिरफ्तार किया जिसमे 19 जमाती हैं. ये सभी जमाती, निजामुद्दीन से निकल कर प्रयागराज जनपद में आकर छिपे हुए थे. प्रयागराज जनपद से गिरफ्तार किए जमातियों में 7 जमाती इंडोनेशिया और 9 थाईलैंड के हैं . एक जमाती केरल और एक पश्चिम बंगाल का है. शाहगंज थाना क्षेत्र की अब्दुला मस्जिद एवं करैली थाना क्षेत्र के कुछ इलाकों से 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया . इन लोगों ने जमातियों को छिपाया हुआ था.