पाकिस्तान: कट्टरपंथी मुसलमानों ने हिंदू युवक की गला रेतकर की हत्या

    दिनांक 24-अप्रैल-2020   
Total Views |
पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सांघर जिले के पारा कस्बे में परचून की दुकान चलाने वाले स्व धर्मू मल्ही के युवा पुत्र टेकराम मल्ही को उसके घर में गला रेत कर मार डाला गया। लेकिन भारत के कथित सेकुलरों को पड़ोसी देश में हिन्दुओं पर होता यह जुल्म नहीं दिखता

pakistan hindu _1 &n 
पाकिस्तान में पिछले दिनों कट्टरपंथियों ने एक हिंदू युवक के हाथ-पैर बांध कर उसके घर के शौचालय में बड़ी निर्मता से मार दिया। गर्दन रेतने से निकले खून से पूरा शौचालय भर गया था। हालांकि, विपक्षी दलों के शोर-शराबे के बाद हत्या में शामिल चार लोग धरे गए हैं। बावजूद इसके कोरोना संक्रमण से उत्पन्न अफरा-तफरी के बीच कट्टरपंथियों की बढ़ती ज्यादातियों से पाकिस्तान का हिंदू समाज बुरी तरह हिला हुआ है। उन्हें समझ में नहीं रहा है कि कोरोना और इस आफत से एक साथ कैसे निपटें।
कोरोना काल में पाकिस्तान में हिंदू विरोधियों की गतिविधियां चरम पर हैं। कट्टरपंथी जमाते जहां गरीब हिंदुओं को राशन का लालच देकर कन्वर्ट करने में लगी हुई हैं, वहीं हिंदू बच्चियों का अपहरण और उन्हें कन्वर्ट करने का खेल भी चरम पर है। इसके अलावा हिंदुओं पर हमले भी बढ़ गए हैं। इस क्रम में पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सांघर जिले के पारा कस्बे में परचून की दुकान चलाने वाले स्व धर्मू मल्ही के युवा पुत्र टेकराम मल्ही को उसके घर के शौचालय में गला रेत कर मार डाला गया। कई दिनों से इलाके के कट्टरपंथी टेकराम के पीछे एक छोटे से विवाद को लेकर पड़े हुए थे। उन्हें जैसे ही मौका मिला, उसके घर में घुस गए। फिर उसे घसीट कर घर के बाथरूम में ले जाकर हाथ-पैर बांध गर्दन तेज हथियार से रेत डाली। घटना के बाद जब टेकराम के घर वाले बाथरूम में पहुंचे तो वहां चारों ओर खून फैला देखकर उनके होश उड़ गए।
एसएमक्यू के सदस्य तथा सेवानिवृत सिस्टम इंजीनियर हितेश मोटवाणी और मियां नवाजशरीफ की पार्टी पीएमएल-एन के सिंध प्रांत के अल्संख्यक ईकाई के अध्यक्ष एवं कौमी एसेंबली के सदस्य खील दास कोहिस्तानी ने जब मामला जोरदार ढंग से उठाया तब जाकर सिंध पुलिस हरकत में आई। मुख्यमंत्री मुराद अली शाह के सांघर के डीआईजी को निर्देश देने पर हत्या में शामिल चार लोग गिरफ्तार किए गए हैं। इसके बावजूद इलाके के लोग और पाकिस्तान का हिंदू समाज संतुष्ट नहीं, बल्कि उनका खौफ पहले से और बढ़ गया है। एक्टिविस्ट उरूसा खत्री कहती हैं कि कोराना के चलते अभी पूरी मानवता संकट में है पर पाकिस्तान में कट्टरपंथी जानवर बने हुए हैं। इस घटना से कुछ दिनों पहले सिंध प्रांत में दो स्थानों पर हिदुओं के बारह घर कट्टरपंथियों ने फूंक दिए थे, जिसमें तीन नन्हे बच्चे की झुलने से जान चली गई थी। इस घटना में बुरी तरह घायल एक हिंदू महिला आज भी अस्पताल में जीवन और मृत्यु से जंग लड़ रही है। पहली घटना थारपारकर जिले के छछेड़ा तहसील के गांव उम्मेद अली रिंधी में और दूसरी घोटकी जिले के दाद लोघरी गांव में हुई थी। इन घटनाओं में प्रभावितों के लाखों रुपये का सामान भी स्वाहा हो गया था।