हरियाणा-एक काॅल पर जरूरतमंद तक पहुंच जाते हैं सेवा भारती के कार्यकर्ता
   दिनांक 09-अप्रैल-2020
सेवा भारती, हरियाणा में 72 स्थानों पर राहत केंद्र बनाए गए हैं। इन राहत केंद्रों से जरूरतमंदों तक राहत पहुंचाने के लिए 2377 कार्यकर्ता परिश्रम से लगे हुए हैं। ये कार्यकर्ता बस्ती, नगरों, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, आश्रय स्थल व अन्य दूसरे स्थानों पर लॉकडाउन के कारण फंसे लोगों तक भोजन व खाद्य सामग्री पहुंचा रहे हैं

sewa_1  H x W:
देशभर में सेवा भारती के कार्यकर्ता लॉकडाउन के कारण प्रभावित परिवारों की सेवा में दिनरात लगे हुए हैं। इस दौरान जरूरतमंदों को खाना व अन्य खाद्य सामग्री का वितरण उनके द्वारा किया जा रहा है। इसी कड़ी में सेवा भारती द्वारा हरियाणा में 72 स्थानों पर राहत केंद्र बनाए गए हैं। इन राहत केंद्रों से जरूरतमंदों तक राहत पहुंचाने के लिए 2377 कार्यकर्ता परिश्रम से लगे हुए हैं। ये कार्यकर्ता बस्ती, नगरों, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, आश्रय स्थल व अन्य दूसरे स्थानों पर लॉकडाउन के कारण फंसे लोगों तक भोजन व खाद्य सामग्री पहुंचा रहे हैं।
गौरतलब है कि 25 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही सेवा भारती के कार्यकर्ता सेवा कार्य में जुट गए थे। 25 मार्च से 4 अप्रैल तक सेवा भारती द्वारा प्रदेश भर में जरूरतमंदों को 22 लाख भोजन के पैकेट, 1 लाख 40 हजार सूखे राशन के पैकेट, 130 टन दाल तथा 2600 टन गेहूं व आटे का वितरण किया जा चुका है। इसके अलावा 1 लाख 43 हजार मास्क व सेनेटाइजर भी जरूरतमंदों को उपलब्ध करवाए गए हैं। जरूरतमंदों को भोजन व अन्य खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाने के दौरान सरकार द्वारा जारी सोशल डिस्टेंसिंग, घर पर ही रहने जैसी सभी हिदायतों के बारे में भी जागरूक किया जा रहा है ताकि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।
सेवा भारती को मिल रहा गांवों को पूरा साथ
सेवा भारती के अभियान को गांवों से भरपूर समर्थन मिल रहा है। संस्था के आह्वान पर गांवों के लोग जरूरतमंदों के लिए बढ़-चढ़कर खाद्य सामग्री भेज रहे हैं। कार्यकर्ता ग्रामीण क्षेत्र से आने वाली खाद्य सामग्री के पैकेट तैयार कर जरूरतमंदों तक पहुंचा रहे हैं। इसके अलावा कार्यकर्ताओं द्वारा जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट के साथ-साथ सूखी खाद्य सामग्री की किट भी मुहैया करवाई जा रही है। इस किट में 10 किलो आटा, 5 किलो चावल, 1 किलो दाल, 1 किलो तेल, नमक व आचार दिया जाता है ताकि यह लोग भोजन के पैकेट पर आश्रित न रहकर घर पर ही अपना भोजन तैयार कर सकें।
एक कॉल और पहुंच जाता खाना
सेवा भारती के प्रदेश महासचिव डॉ. यशदेव त्यागी बताते हैं कि सेवा भारती द्वारा प्रदेशभर में 72 स्थानों पर सेवा कार्य चलाए गए हैं और सभी स्थानों के मोबाइल नंबर जारी किए हुए हैं। जरूरतमंद के एक फोन कॉल पर ही सेवा भारती के कार्यकर्ता तुरंत उनको सहायता उपलब्ध करवाते हैं। फरीदाबाद, गुरुग्राम, पानीपत औद्योगिक क्षेत्र होने के कारण यहां मजदूरों की संख्या ज्यादा है। इसलिए सबसे ज्यादा सेवा कार्य इन जिलों में चलाए जा रहे हैं। ताकि अधिक से अधिक लोगों तक सहायता पहुंचाई जा सके।