पुलवामा हमले के बलिदानियों के परिजनों को 22 लाख रूपये की आर्थिक सहायता

    दिनांक 11-मई-2020   
Total Views |
उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के जिलाधिकारी रवींद्र कुमार ने बलिदानी अजीत आज़ाद की पत्नी मीना गौतम को 11 लाख रूपये का चेक एवं उनके माता-पिता को भी 11 लाख रूपये का चेक प्रदान किया।

a_1  H x W: 0 x 
उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के जिलाधिकारी रवींद्र कुमार ने बलिदानी अजीत आज़ाद की पत्नी मीना गौतम को 11 लाख रूपये का चेक एवं उनके माता-पिता को भी 11 लाख रूपये का चेक प्रदान किया। पुलवामा हमले में बलिदान हुए जवानों के परिजनों को आर्थिक सहायता पहुंचाने के लिए राज्य के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अपने विभाग के सभी अधिकारियों– कर्मचारियों से एक दिन का वेतन देने की अपील की थी।
 
14 फरवरी, 2020 को लखनऊ में एक कार्यक्रम का आयोजन करके बलिदानियों के परिजनों को चेक प्रदान किये गए थे। उस कार्यक्रम में नहीं पहुंच पाने के कारण बलिदानी अजीत आज़ाद के परिजनों को चेक नहीं दिया जा सका था। गौरतलब है कि 14 फरवरी, 2020 को जब पूरा देश पुलवामा के बलिदानियों को नमन कर रहा था, ठीक उसी समय बलिदानियों के माता-पिता के पैर छूकर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने आशीर्वाद प्राप्त किया और उन जवानों के परिजनों को 11–11 लाख रुपये का चेक प्रदान किया।
 
इस तरह से पुलवामा में बलिदान हुए उत्तर प्रदेश के जवानों के घरों को 22 लाख रुपये की आर्थिक सहायता पहुंचाई गई थी। इस आयोजन के माध्यम से उत्तर प्रदेश सरकार ने यह स्पष्ट किया कि सभी बलिदानियों के परिवारों को किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। इस दौरान उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि जो वीर बलिदान हुए हैं, उनकी तुलना में हम कुछ भी नहीं कर सकते हैं। यह धनराशि तो केवल एक प्रतीकात्मक तौर पर दी गई है। इन वीर सपूतों के परिवारों का पूरा ध्यान रखा जाएगा और जिस प्रकार की भी दिक्कत आएगी, उसमें सरकार पूरी मदद करेगी।
 
उल्लेखनीय है कि इन बलिदानी परिवारों के लिए लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम, राजकीय निर्माण निगम के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से लेकर उच्च स्तर के सभी अधिकारियों ने अपना एक दिन का वेतन दिया। इस प्रकार कुल 4 करोड़ 95 लाख की धनराशि एकत्र हुई। इसमें लोक निर्माण विभाग की 4 करोड़ 46 लाख, निर्माण निगम की 29 लाख एवं सेतु निगम की 20 लाख की धनराशि शामिल है।