पीएम मोदी का राष्ट्र को संबोधन आज

    दिनांक 12-मई-2020
Total Views |

modi _1  H x W: 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 8 बजे देश को संबोधित करेंगे। कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के बीच पीएम मोदी इससे पहले कई बार देश को संबोधित कर चुके हैं। सोमवार को भी कोरोना वायरस के कारण देशभर में लगे लॉकडाउन पर पीएम मोदी ने कई राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से बातचीत की थी। इस दौरान उन्‍होंने सभी राज्‍यों के सुझावों को सुना, जिनमें कई कई मुख्‍यमंत्रियों ने लॉकडाउन को बढ़ाने का आग्रह भी किया है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि लॉकडाउन की अवधि और बढ़ सकती है। पीएम मोदी के देश के नाम संबोधन की खबर आते ही ट्विटर पर #Lockdown4 ट्रेंड भी होना शुरू हो गया है।
कोरोना वायरस संकट के बीच यह पीएम मोदी का पांचवां राष्ट्र के नाम संबोधन होगा। पीएमओ के ट्विटर हैंडल पर आज के राष्ट्र के नाम संबोधन की जानकारी दी गई है। माना जा रहा है कि कोरोना वायरस महामारी के बीच आगे के फैसलों की जानकारी पीएम मोदी इस संबोधन में देंगे। 25 मार्च से जारी 54 दिन का लॉकडाउन 17 मई को समाप्त होने वाला है।
पीएम मोदी ने मुख्‍यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में शुरुआती संबोधन में टीम वर्क पर जोर देते हुए कहा कि अब कोरोना के विस्तार का आकलन हो गया है। इसे एकजुट होकर ही हराना होगा। वहीं, धीरे-धीरे शुरू हो रही आर्थिक गतिविधियों को तेज भी करना होगा। उन्‍होंने कहा कि भारत ने सफलता के साथ नियंत्रित किया है और वैश्विक स्तर पर इसे सराहा भी जा रहा है। आगे की राह पर बढ़ते हुए भी इसका ध्यान रखना होगा कि कोरोना का विस्तार न हो। हमें जरूरी सुरक्षा मानकों का ध्यान रखना ही होगा। दो सत्रों में चली बैठक में सभी मुख्यमंत्रियों को बोलने का अवसर दिया गया। अब तक ऐसी चार बैठकों में हर बार अलग-अलग सात-आठ मुख्यमंत्रियों को ही बोलने का अवसर मिलता था।
गौरतलब है कि लॉकडाउन के बावजूद पिछले 24 घंटे में भारत में कोरोना वायरस (COVID-19) के 3604 मामले सामने आए हैं। इनमें से केवल तीन राज्य में 2,377 मामले सामने आए हैं। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में 1230 मामलों की पुष्टि हो गई है। वहीं तमिलनाडु में 800 और गुजरात में 347 मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोना वायरस के 70,756 मामले सामने आ गए हैं। पिछले 24 घंटे में 3604 मामले सामने आए हैं। इनमें से 46,008 एक्टिव केस हैं। 22,454 मरीज ठीक हो गए हैं। 2293 लोगों की मौत हो चुकी है।