जिसकी खैरात पर पाकिस्तान चलता है उसी यूएई के खिलाफ अभियान चलाता है

    दिनांक 21-मई-2020
Total Views |
पाकिस्तान जिसने कई ​बिलियन डॉलर कर्ज संयुक्त अरब अमीरात यानी यूएई से ले रखा है वहां पर यूएई के खिलाफ ही ट्विटर पर ​अभियान चलाया जा रहा है। पाकिस्तान में पाकिस्‍तान में #BoycottUAE टॉप पर ट्रेंड कर रहा है। इस ट्रेंड के पीछे की वजह बेहद दिलचस्‍प है

imran khan _1  
अबू धाबी क्राउन प्रिंस के साथ इमरान खान (फाइल फोटो)
पाकिस्‍तान उन देशों में से है जो खैरात पर निर्भर है। खाड़ी के देश उसे अच्‍छी-खासी मदद भेजते हैं। यूएई लगातार पाकिस्‍तान को आर्थ‍िक मदद पहुंचाता रहा है। साल 2019 में पाकिस्‍तान को यूएई से 3 बिलियन डॉलर की रकम मिली। वहीं 3.2 बिलियन डॉलर आगे देने पर सहमति बनी। कोरोना वायरस संकट के समय भी यूएई ने आर्थिक और मेडिकल सहायता पाकिस्‍तान को उपलब्‍ध कराई। मगर यह हैशटैग चला रहे पाकिस्‍तानी यूजर्स शायद यह सब भूल गए हैं।
इसके अलावा पाकिस्‍तानी यूएई से इसलिए चिढ़े हुए हैं क्योंकि उसने तुर्की की लीबिया में कार्रवाई की निंदा की है। तुर्की और यूएई के रिश्‍ते वर्तमान में बेहद तनावपूर्ण हो गए हैं। वहीं तुर्की हमेशा पाकिस्‍तान के साथ खड़ा रहता है। इसके चलते पाकिस्‍तानी तुर्की को अपना असली दोस्‍त बता रहे हैं।
इसके अलावा पिछले दिनों यूएई ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने सर्वोच्च सम्मान से नवाजा था इसलिए भी पाकिस्तानी यूएई से चिढ़े हुए हैं।
कुछ ट्वीट्स की भाषा ऐसी है जिसकी सभ्‍य समाज में कोई जगह नहीं है। ये सब शुरू हुआ अली केसकिन नाम के एक वेरिफाइड अकाउंट की अपील पर। उसने 19 मई को रात 9 बजे के लगभग ट्वीट किया, "यूएई अब तुर्की का दुश्‍मन है। मैं अपने सभी मुसलमान दोस्‍तों से यूएई पर प्रतिबंध लगाने की अपील करता हूं।" इसके साथ उसने #BoycottUAE हैशटैग का यूज किया। अगले ट्वीट में उसने कहा कि 'यूएई' कश्‍मीर संकट पर चुप रह गया और भारत का समर्थन करता है।' इसके बाद इस हैशटैग के साथ दनादन ट्वीट्स होने लगे। किसी ने यूएई को तुर्की की वजह से लताड़ा तो कोई पीएम मोदी को बीच में ले गया। कश्‍मीर के बहाने भी यूएई पर खूब वार किए गए।