युसूफ अंसारी ने प्रयागराज जिला प्रशासन के बारे में चलाई थी फेक न्यूज़, प्राथमिकी दर्ज

    दिनांक 04-मई-2020   
Total Views |
कोरोना वायरस के इस दौर में फेक न्यूज़ चलाने वाले सरकारी तंत्र को बदनाम करने के लिए झूठी खबरें गढ़ने में लगे हुए हैं। सलाम इण्डिया न्यूज़ नाम की वेबसाइट चलाने वाले युसूफ अंसारी ने कुछ दिन पहले झूठी और भ्रामक खबर अपनी वेबसाइट पर चलाई थी, जिसका संज्ञान लेकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

a_1  H x W: 0 x
कोरोना वायरस के इस दौर में फेक न्यूज़ चलाने वाले सरकारी तंत्र को बदनाम करने के लिए झूठी खबरें गढ़ने में लगे हुए हैं। सलाम इण्डिया न्यूज़ नाम की वेबसाइट चलाने वाले युसूफ अंसारी ने कुछ दिन पहले झूठी और भ्रामक खबर अपनी वेबसाइट पर चलाई। बकायदा एक पोस्टर की फोटो लगाई गई, जिसमे लिखा हुआ है कि- मत मिलिए, क्वारंटाइन किया हुआ घर। इस खबर में युसूफ अंसारी ने यह बताया कि जानबूझकर ऐसे पोस्टर प्रयागराज जनपद में उन मुसलमानों के घरों पर लगाए गए हैं, जो एकांतवास में हैं या एकांतवास पूरा कर चुके हैं।
 
ऐसा मुसलमानों को बदनाम करने के लिए किया गया है। समाचार का शीर्षक था - प्रयागराज में मुस्लिम घरों पर लगे पोस्टर, प्रशासन पर उठे सवाल।” इस भ्रामक खबर के संज्ञान में आने के बाद प्रयागराज जिले के पुलिस अधीक्षक ( नगर ) ने कई बार युसूफ अंसारी को फोन किया मगर युसूफ अंसारी ने फोन नहीं उठाया। इसके बाद प्रयागराज पुलिस ने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दी।
उल्लेखनीय है कि जब कोरोना वायरस इतने बड़े पैमाने पर नहीं फैला था, उस समय केवल विदेश से आये लोगों को ही एकांतवास में रखा जा रहा था। ऐसे लोगों के घरों पर उस समय इस प्रकार के पोस्टर लगाए गए थे। इसमें किसी प्रकार का भेदभाव मजहब के आधार पर नहीं किया गया था। मगर युसूफ अंसारी ने उसी पोस्टर की फोटो लगाकर भ्रामक समाचार वेबसाइट पर चलाया। खबर में एक अधिवक्ता का कोट उद्धृत करते हुए यह सवाल उठाया गया है कि "ऐसा किस नियम के तहत किया जा रहा है। यह मानवाधिकार का उल्लंघन है।"
इस संबंध में प्रयागराज के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज बताते हैं, "युसूफ अंसारी से संपर्क करने का कई बार प्रयास किया गया था। मगर उन्होंने फोन नहीं उठाया। पुलिस की तरफ से जब कई बार फोन किया गया तो उन्होंने फोन बंद कर दिया। तथ्यहीन खबर चला कर भ्रम फैलाने का प्रयास किया गया है। एफआईआर दर्ज करके अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।"