जब मां ने इरफान को आशीर्वाद रूप में श्रीनाथजी की तस्वीर दी तो उन्होंने माथे से लगा लिया

    दिनांक 05-मई-2020   
Total Views |
बेजुबान जानवरों को मारने के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले दिवंगत फिल्म अभिनेता इरफान खान भगवान शंकर के भक्त व गो प्रेमी थे। उनके शिव भक्त होने का खुलासा उदयपुर में फिल्म इंग्लिश मीडियम की शूटिंग के दौरान उनके ड्राईवर रहे नरपतसिंह ने किया है।

a_1  H x W: 0 x
बेजुबान जानवरों को मारने के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाले दिवंगत फिल्म अभिनेता इरफान खान भगवान शंकर के भक्त व गो प्रेमी थे। उनके शिव भक्त होने का खुलासा उदयपुर में फिल्म इंग्लिश मीडियम की शूटिंग के दौरान उनके ड्राईवर रहे नरपतसिंह ने किया है। नरपत ने बताया कि इरफान खुलकर जिंदगी जीने वालों में से थे और एक मुस्लिम होने के बावजूद वह भगवान को मानते थे और मंदिर भी जाते थे। फिल्म इंग्लिश मीडियम की शूटिंग के दौरान उदयपुर में इरफान खान शूटिंग से पहले मंदिर जाकर भगवान शिव को मंदिर में जल चढ़ाकर प्रार्थना करते थे।
खबरों की मानें तो ये बात साल, 2019 की है, जब फिल्म की शूटिंग के लिए इरफान को होटल से लाने और ले जाने की जिम्मेदारी नरपतसिंह नाम के चालक की थी, जो उस दौरान उनसे काफी घुलमिल गए थे। बकौल नरपत, इरफान जब होटल से शूटिंग के लिए निकलते तो सीधे वहां नहीं जाते थे, बल्कि सबसे पहले उदयपुर के एक शिव मंदिर में जाते थे। इरफान वहां जाकर भगवान शंकर जी की मूर्ति पर जल चढ़ाते और मंदिर में मौजूद गाय को चारा भी खिलाते। इरफान खान जितने दिन उदयपुर में रहे, वह रोज उस मंदिर में जाते थे। शिव मंदिर में जल चढ़ाने के बाद ही इरफान खान शूटिंग के लिए जाते थे। इसके अलावा वह शूटिंग से पहले गायों को चारा खिलाना, कुत्तों को रोटी खिलाना जैसे काम जरूर करते थे। एक तरह से ये उनका नित्य का कार्य बन गया था, जिसे वह खुशी-खुशी निभाते थे।
माथे से लगाई श्रीनाथजी की तस्वीर
नरपत बताते हैं कि इरफान शूटिंग के बाद एक बार उनके घर आए और उनकी मां के हाथ की बनी चाय पीकर कहा उनकी अम्मी भी ऐसी ही चाय पिलाती हैं। इस दौरान इरफान ने खेतों की हरियाली का लुत्फ उठाया और गाय-बछड़ों को भी खूब दुलार किया। आगे नरपत बताते हैं कि वह उस समय हैरान रह गए जब उसकी मां ने इरफान को आशीर्वाद के रूप में श्रीनाथजी की तस्वीर दी, जिसे इरफान ने माथे से लगा लिया। ड्राइवर ने इरफान की पसंद बताते हुए कहा कि उन्हें मक्के की रोटी और गाय का घी खाना काफी पसंद था।

a_1  H x W: 0 x 
खबरों के अनुसार वर्ष, 2018 में इरफान जब लंदन में अपनी बीमारी न्यूरोइंडोक्राइन ट्यूमर का इलाज करा रहे थे तो उनके दिवाली के समय चुपके से 2 दिन के लिए भारत आने की बात सामने आई थी। रिपोर्ट्स में बताया गया कि इरफान भारत आने के बाद सीधे त्रयंबकेश्वर शिव मंदिर में गए थे। उन्होंने इसकी भनक किसी को लगने नहीं दी। इरफान ने नासिक के पास स्थित त्रयंबकेश्वर में भगवान शिव की विधिविधान से पूजा की थी।
उल्लेखनीय है कि जिंदादिल अभिनेता इरफान खान को न्यूरोइंडोक्राइन ट्यूमर हुआ था। मार्च 2018 में इरफान को अपनी बीमारी का पता चलने पर लंदन में इलाज भी कराया था। अप्रैल 2019 में भारत लौटने के बाद इरफान ने अंग्रेजी मीडियम फिल्म की शूटिंग की थी। मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले इरफान नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के छात्र रह चुके थे। छोटे पर्दे पर उन्होंने भारत एक खोज में भी काम किया था और इसके बाद वे फिल्मों में आए।