देश ही नहीं विदेशों से भी लौटने वालों की चिंता कर रही है योगी सरकार

    दिनांक 07-मई-2020
Total Views |
 लखनऊ ब्यूरो
 
ऐसे लोग जो उत्तर प्रदेश में लौटना चाहते हैं मगर उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं मिल पा रहा है, उनके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने जनसुनवाई पोर्टल और ऐप बनवाया है। इसके माध्यम से दूसरे प्रदेशों में फंसे लोग अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। उत्तर प्रदेश के वे लोग जो इस समय विदेशों में हैं और घर लौटना चाहते हैं, उनकी सकुशल घर वापसी का इंतजाम किया जा रहा है

a_1  H x W: 0 x
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देशन में अब तक 64 हजार से अधिक लोगों को उत्तर प्रदेश में वापस लाया जा चुका है। जो लोग दूसरे प्रदेश में हैं और उत्तर प्रदेश लौटना चाहते हैं, उनके लिए आॅनलाइन व्यवस्था की गई है। ऐसे सभी लोग www.jansunwai.up.nic.in पर अपना विवरण दर्ज करके आवेदन कर सकते हैं। यह ध्यान रखना होगा कि उत्तर प्रदेश में लौटने का कारण संतोषजनक होना चाहिए। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया, "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को प्रदेश व गैर प्रदेश ही नहीं बल्कि उन लोगों की भी चिंता है, जो विदेशों में हैं। भारत सरकार के विदेश मंत्रालय के सहयोग से यूपी के ऐसे लोग जो विदेशों में हैं, उन्हें भी लाने की योजना तैयार की जा रही है। ऐसे लोगों को लाने के लिए लखनऊ और बनारस एयरपोर्ट की सेवा ली जाएगी। इसके साथ ही वहीं पर क्वारंटीन व स्वास्थ्य परीक्षण की भी सुविधा का इंतजाम किया जा रहा है।"

a_1  H x W: 0 x 
उल्लेखनीय है कि यह आनलाइन व्यवस्था दूसरे प्रदेशों में फंसे उन लोगों के लिए की गई है, जो उत्तर प्रदेश लौटना चाहते हैं लेकिन उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं मिल पा रहा है। इस पोर्टल पर अपनी पूरी जानकारी भर कर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इस पोर्टल का ऐप भी है, जिसे स्मार्टफोन पर डाउनलोड किया जा सकता है। ऐप के जरिये भी रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है। सरकार की तरफ से स्वीकृति होने के बाद आवेदन कर्ता को सूचित कर दिया जाएगा। यह भी ध्यान देने वाली बात है कि गैर राज्यों से उत्तर प्रदेश में लोगों की वापसी के लिए 29 ट्रेनों की व्यवस्था की गई है।