संघ की पहल से श्रमिक लौट रहे हैं घर

    दिनांक 10-जून-2020   
Total Views |
जम्मू के पास बनिहाल में ठेकेदार के जरिए रेल परियोजना में काम करने वाले झारखंड, बिहार और ओडिशा के 27 श्रमिक को उनके घर तक पहुंचाने के लिए कटरा और खूंटी के स्वयंसेवकों ने की अनुकरणीय पहल
jj_1  H x W: 0
जम्मू—कश्मीर के बनिहाल में रह रहे मजदूर।

 हम सबको पता है कि गत तीन महीने से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक निरंतर श्रमिकों और अन्य जरूरतमंदों की तन, मन और धन से मदद कर रहे हैं। संघ के स्वयंसेवक श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए भी दिन—रात काम कर रहे हैं। जम्मू के कटरा और झारखंड के खूंटी के स्वयंसेवकों का एक ऐसा ही कार्य इन दिनों चर्चा में है। उल्लेखनीय है कि कटरा क्षेत्र के टटनीहाल और बनिहाल स्थित एबीसीआई इंफोटेक कम्पनी में काम करने वाले 27 मजदूर अभी भी वहीं फंसे हुए थे। इन मजदूरों में ज्यादातर खूंटी जिले के और कुछ बिहार और ओडिशा के हैं। इनके बारे में कटरा के स्वयंसेवकों को पता चला तो उन्होंने खूंटी के संघ कार्यालय से संपर्क किया। इसके बाद स्वयंसेवकों ने इन मजदूरों की घरवापसी का अभियान चलाया। कटरा और खूंटी के स्वयंसेवकों और रामबन के उपायुक्त की पहल से इन मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने की व्यवस्था हो गई है। 10 जून को ये श्रमिक कटरा में स्वास्थ्य जांच और अन्य सारी औपचारिकताएं पूरी कर रेलगाड़ी से अपने घर के लिए निकल जाएंगे। इन मजदूरों में से एक अनिल ने पांचजन्य को बताया,''घर जाने की व्यवस्था हो गई है, यह सुनकर मानो हम मजदूरों को दूसरा जीवन मिल गया। जब से लॉकडाउन हुआ था, तब से हम लोग घर जाने के लिए तड़प रहे थे। जिन लोगों ने भी हमारी मदद की है, उन्हें सभी मजूदरों की ओर से धन्यवाद।'' 

   बता दें कि जैसे ही खूंटी के स्वयंसेवकों को इन मजदूरों की जानकारी मिली, तो उन्होंने खूंटी के सांसद और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, केंद्रीय गृह मंत्रालय, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, खूंटी के उपायुक्त आदि लोगों को इन मजदूरों के बारे में बताया। उसका सुखद परिणाम भी निकला और अब वे श्रमिक एक—दो दिन के अंदर अपने—अपने घर पहुंच जाएंगे।