लद्दाख: गलवान में भारत—चीन सैनिकों की हिंसक झड़प, चीन के सरकारी मीडिया ने माना मारे गये कई चीनी सैनिक

    दिनांक 16-जून-2020   
Total Views |
लद्दाख में गलवान घाटी में भारत-चीन सैनिकों के बीच बीती रात हिंसक झड़प हुई। इस झड़प में भारतीय सेना के एक अफसर समेत दो जवान बलिदान हो गए। इस दौरान चीन के भी कई सैनिकों के मारे जाने की खबर है लेकिन चीनी सरकारी मीडिया ने यह संख्या बताने से इंकार किया है।

s_1  H x W: 0 x

लद्दाख में गलवान घाटी में भारत-चीन सैनिकों के बीच बीती रात हिंसक झड़प हुई। इस झड़प में भारतीय सेना के एक अफसर समेत दो जवान बलिदान हो गए। इस दौरान चीन के भी कई सैनिकों के मारे जाने की खबर है लेकिन चीनी सरकारी मीडिया ने यह संख्या बताने से इंकार किया है। गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद चीन की ओर से बयान जारी किया गया है, जिसमें जोर देकर कहा गया है कि भारत से बातचीत के जरिये विवाद को सुलझाएंगे।

s_1  H x W: 0 x

हालांकि झड़प के दौरान LAC पर किसी भी ओर से गोली नहीं चलने की खबर है। दरअसल चीन के सैनिकों को हटाने के दौरान यह हिंसक झड़प हुई। इस पूरे मसले पर भारतीय सेना की ओर से आधिकारिक बयान जारी किया गया है, जिसके मुताबिक, "गलवान घाटी में सोमवार की रात को डि-एस्केलेशन की प्रक्रिया के दौरान भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई। इस दौरान भारतीय सेना के एक अफसर और दो जवान बलिदान हो गए हैं। दोनों देशों के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी इस वक्त इस मामले को शांत करने के लिए बड़ी बैठक कर रहे हैं।"


चीनी मीडिया नहीं बता रहा असल नंबर

चीन के सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स के एडिटर-इन-चीफ ने स्वीकार किया है कि बीती रात लद्दाख के गलवान में हुई हिंसक झड़प में चीनी सैनिक भी मारे गये हैं। हालांकि एडिटर-इन-चीफ हू शीजिन अपने टृवीट में भारत को युद्ध की धमकी देते नज़र आ रहे हैं। इस घटना के प्रकाश में आने के बाद भारतीय मीडिया ग्लोबल टाइम्स की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए चीन के 5 सैनिकों के मारे जाने और 11 के घायल होने की बात कर रहा था लेकिन इस पर ग्लोबल टाइम्स ने टृवीट कर स्पष्ट किया है कि उसने कहीं भी मारे गये सैनिकों के असल नंबर नहीं बताए हैं और न ही अभी किसी संख्या की पुष्टि कर सकते हैं। लेकिन इस टृवीट से इतना जरूर स्पष्ट है कि झड़प में चीनी सैनिक मारे ज़रूर गये हैं। लेकिन चीनी मीडिया इसे जाहिर करने में हिचकिचा रहा है।