तनाव के बीच भारत—चीन की वार्ता जारी, कई मुद्दों पर हुई चर्चा

    दिनांक 19-जून-2020   
Total Views |
 
 गलवान में हिंसक झड़प के बाद भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर तनाव बरकरार है। जानकारों की मानें तो स्थितियां नाजुक हैं। ऐसे में लद्दाख की गलवान घाटी में सामान्य स्थिति बहाल करने के उद्देश्य से लगातार तीसरे दिन भारतीय और चीनी सेनाओं ने मेजर जनरल स्तर की वार्ता की।

a_1  H x W: 0 x
प्रतीकात्मक तस्वीर

गलवान में हिंसक झड़प के बाद भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर तनाव बरकरार है। जानकारों की मानें तो स्थितियां नाजुक हैं। ऐसे में लद्दाख की गलवान घाटी में सामान्य स्थिति बहाल करने के उद्देश्य से लगातार तीसरे दिन भारतीय और चीनी सेनाओं ने मेजर जनरल स्तर की वार्ता की। खबरों के मुताबिक वार्ता करीब 6 घंटे से अधिक समय तक चली। इस दौरान दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों ने कई अहम मुद्दों पर चर्चा की।


उल्लेखनीय है कि बीते सोमवार को गलवान घाटी में भारत-चीन के बीच हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान बलिदान हुए हैं तो वहीं चीन के 45 से ज्यादा जवानों के मारे जाने की भी सूचना है। लेकिन चीन इस पर अपना मुंह नहीं खोल रहा है। ऐसी स्थिति में नियंत्रण रेखा पर उपजे तनाव को कम करने के लिए लगातार दोनों देशों के शीर्ष सैन्य अधिकारी बातचीत कर रहे हैं लेकिन अभी इसका कोई हल नहीं निकला है। हालांकि बैठक के नतीजों को लेकर दोनों पक्षों की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया है।
 
भारत शामिल होगा बैठक में
भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि भारत आगामी 23 जून को रूस और चीन के विदेश मंत्रियों के साथ होने वाली आरआईसी की बैठक में भाग लेगा। उन्होंने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि इस आभासी बैठक में भारत भाग लेगा और कोविड-19 समेत कई वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा करेगा।