गाजीपुर में अश्लील गाना बजाने से रोका तो मुसलमानों ने किया दलित बस्ती पर हमला

    दिनांक 19-जून-2020   
Total Views |
गाजीपुर में अश्लील गाना बजाने से मना करने पर मुसलमानों ने दलितों की बस्ती पर हमला किया। हमलावरों ने बच्चे, बुजुर्ग और महिलाओं को निशाना बनाया और उन्हें जमकर मारा—पीटा। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए जहां मुकदृमा पंजीकृत कर लिया गया है तो वहीं तनाव को देखते हुए गांव में पीएसी तैनात कर दी गई है

G_1  H x W: 0 x

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में मुसलमानों द्वारा एक छोटे से विवाद में दलितों की बस्ती जलाने की घटना को वह अभी भूला भी नहीं था कि अब फिर से गाजीपुर जिले से मुसलमानों द्वारा दलितों को निशाना बनाए जाने की घटना प्रकाश में आई हैं। दरअसल, मामला गाजीपुर के गहमर थाना क्षेत्र के गोड़सरा गांव का है। खबरों के मुताबिक बीते बुधवार को एक ट्रैक्टर चालक दलित बस्ती से गुजरते समय तेज आवाज में अश्लील गाना बजा रहा था।


G_1  H x W: 0 x

स्थानीय समाज ने इसका विरोध किया। ट्रैक्टर चालक को यह बात खराब लगी। इस घटना के कुछ ही देर बाद ट्रैक्टर मालिक के बेटे हैदर ने अपने साथी तनवीर, मुहम्मद अली सहित करीब 50 लोगों के झुंड के साथ दलित बस्ती पर हमला बोल दिया और वहां जो भी मिला उसे जमकर मारा। घंटों तक मुसलमानों ने दलित बस्ती में ईंट-पत्थरों से बच्चों, महिलाओं और बुजुर्गों को निशाना बनाया और उनके साथ मारपीट की। इस दौरान 13 लोगों के घायल होने की सूचना है, जिसमें तीन भाइयों—जालिम राम, बलिस्टर और सुग्रीव गंभीर रूप से घायल हैं। सभी घायलों को पुलिस ने जिला अस्पताल भेजा जहां उनका इलाज हुआ। जब इस घटना की सूचना जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को मिली तो वह भारी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे लेकिन तब तक सभी हमलावर मौके से फरार हो चुके थे।

हमलावरों के खिलाफ मुकदृमा दर्ज
थानाध्यक्ष विमल कुमार मिश्र के मुताबिक पीडि़त पक्ष की ओर से दी गई तहरीर के आधार पर मुख्य आरोपित हैदर, तनवीर, मुहम्मद अली सहित 21 लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए लगतार छापेमारी कर रही है। बहरहाल, तनाव को देखते हुए गांव में पीएसी तैनात कर दी गई है।



जौनपुर घटना में हुई थी एनएसए के तहत कार्रवाई
राज्य में अराजकता फैलाने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का प्रशासन बेहद सख्ती से पेश आ रहा है। यही वजह है कि पिछले दिनों जौनपुर में मुसलमानों द्वारा दलित बस्ती पर किए गए हमले के बाद हमलावरों पर जहां विभिन्न संगीन धाराओं में मुकदृमा पंजीकृत किया गया था वहीं कड़ी कार्रवाई करते हुए सभी आरोपितों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई के निर्देश दिए।