पाकिस्तानी हिंदू लड़कियों को बचानेे के लिए 6 जून को #SindhRejectsForcedConversions अभियान में शामिल होकर करें उत्पीड़न के खिलाफ आवाज बुलंद

    दिनांक 04-जून-2020   
Total Views |
पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के अपहरण और कन्वर्जन की लगातार बढ़ती घटनाओं को लेकर अब यहां एक बड़ा आंदोलन खड़ा करने के लिए जमीन तैयारी की जा रही है। इसकी शुरूआत 6 जून से सोशल मीडिया से होगी ताकि व्यापक आंदोलन शुरू करने से पहले जनसमर्थन जुटाया जा सके। इसके पहले चरण में टृवीटर हैंडल पर 6 जून को #SindhRejectsForcedConversions ट्रेंड कराने की योजना है।
t_1  H x W: 0 x

पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के अपहरण और कन्वर्जन की लगातार बढ़ती घटनाओं को लेकर अब यहां एक बड़ा आंदोलन खड़ा करने के लिए जमीन तैयारी की जा रही है। इसकी शुरूआत 6 जून से सोशल मीडिया से होगी ताकि व्यापक आंदोलन शुरू करने से पहले जनसमर्थन जुटाया जा सके। इसके पहले चरण में टृवीटर हैंडल पर 6 जून को #SindhRejectsForcedConversions ट्रेंड कराने की योजना है।
  
अभियान का पहला चरण उन तमाम मांओं को समर्पित होगा जिनकी बेटियां कोराना काल में मजहबी जिहादियों के हाथों शिकार हुईं तथा उनका अपहरण व कन्वर्जन कर उन्हें वेश्यावृति के लिए बेच दिया गया। आंदोलन का नेतृत्व करने वाले पाकिस्तान के सामाजिक कार्यकर्ता धनजी कोलही ने सोशल मीडिया पर उन तमाम हिंदू लड़कियों की तस्वीरों का ‘कोलाज’ जारी किया है, जिनका हाल के दिनों में अपहरण के बाद कन्वर्जन किया गया। कोलही ने आंदोलन के प्रति समर्थन जुटाने के लिए तमाम जागरूक पाकिस्तानियों से #SindhRejectsForcedConversions को अधिक से अधिक ट्रेंड कराने की अपील की है, ताकि शासन और प्रशासन का ध्यान निरंतर बढ़ती इस बीमारी के प्रति दिलाया जा सके। धनजी कोलही ने इस अभियान में भाग लेने वालों से वीडियो, ग्राफिक इंटरचेंज फॉर्मेट यानी जीआईएफ, चित्र आदि तैयार करने की अपील की है ताकि अपने मैसेज के साथ वे इसे लगा सकें।

t_1  H x W: 0 x
 
पाकिस्तान में महिलाओं के अधिकार के लिए संघर्षरत जोया असगर कहती हैं कि जबरन कन्वर्जन यकीनन अपराध है। इसे समूल खत्म होना चाहिए। इसके उलट पाकिस्तान में हिंदू सहित दूसरे अल्पसंख्यकों की बच्चियों के अपहरण और कन्वर्जन की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। पिछले तीन दिनों के भीतर ही छह से अधिक हिंदू लड़कियों का कन्वर्जन की नियत से अपहरण कर लिया गया। पिछले चौबीस घंटे में सिंध प्रांत के मीरपुर खास जिले के समारो, मीरवाह गोरचनी में कृष्ण मेघवाड़ की पुत्री आशा मेघवाड़ का पहले अपहरण और फिर कन्वर्जन किया गया। इस मामले में एक कट्टरपंथी अय्यूब जान को आरोपी बनाया गया है। इस घटना से चंद घंटे पहले पंद्रह वर्षीय नाबालिग समतारा कोलही का अपहरण कर लिया गया था। घटना सिंध के टांटो मोहम्मद खान जिले के शेख भीरकोय गांव की है। घटना वाले दिन आसिफ जमाल के नेतृत्व में कई मजहबी समतरा के घर में जबरन घुस आए और उसे उठा ले गए। परिजनों ने उनका विरोध किया तो उनकी बेरहमी से पिटाई कर दी गई।
 
t_1  H x W: 0 x

पाकिस्तान में जब से कोरोना संकट आया है, हिंदू लड़कियों के अपहरण और कन्वर्जन की घटनाएं बढ़ गई हैं। एक अनुमान के अनुसार पिछले दो महीने में पचीस से अधिक हिंदू लड़कियों का कन्वर्जन की नियत से अपहरण किया गया। पाकिस्तान के हैदराबाद शहर के इंजीनियर विनोद कुमार कहते हैं कि इस तरह के अधिकांश मामले को प्रेम प्रसंग बताकर लीपा-पोती की जाती है। जबकि वास्तविकता यह है कि बच्चियों का अपहरण और कन्वर्जन के बाद उन्हें वेश्यावृति के लिए बेच दिया जाता है। धनजी कोलही कहते हैं कि यदि #SindhRejectsForcedConversions अभियान से शासन-प्रशासन नहीं जागा तो आगे बड़े आंदोलन की रणनीति बनाई जाएगी