वसीम ने दिनेश रावत बनकर हिन्दू लड़की को फंसाया, दो वर्षों तक किया दुष्कर्म

    दिनांक 08-जून-2020
Total Views |
मेरठ में वसीम नाम के मुस्लिम युवक ने अपना नाम दिनेश कुमार रावत बताकर एक हिन्दू लड़की को प्रेमजाल में फंसाया. उसने दिनेश कुमार रावत के नाम का नकली आधार कार्ड भी छपवा रखा था. उसने पीड़िता का दो वर्षों तक शारीरिक शोषण किया

vaseem _1  H x
मेरठ में लव जिहाद का एक और मामला सामने आया है. मुस्लिम युवक ने हिन्दू लड़की को अपना नाम दिनेश कुमार रावत बताया था. फेसबुक के माध्यम से पहले जान पहचान हुई थी. दिनेश कुमार रावत के नाम से ही उसने नकली आधार कार्ड आदि भी छपवा रखा था. उसके पहचान पत्र आदि को देखकर हिन्दू लड़की को पूरी तरह विश्वास हो गया था कि उसका प्रेमी हिन्दू ही है. इस दौरान मुस्लिम युवक ने दो वर्ष तक लड़की का शारीरिक शोषण किया. पीड़िता के पिता की शिकायत पर अभियुक्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.
जानकारी के अनुसार, मेरठ जनपद के एक अस्पताल में वसीम नौकरी करता था. इसने दिनेश कुमार रावत के नाम से फेसबुक पर आई डी बनाई. इसका पहले से ही लव जिहाद में किसी हिन्दू लड़की को फंसाने का इरादा था. किसी को शक ना हो इसके लिए वसीम ने दिनेश कुमार रावत के नाम से नकली आधार कार्ड एवं अन्य पहचान पत्र भी छपवा लिया था. वसीम ने फेसबुक के माध्यम से हापुड़ जनपद की रहने वाली लड़की से जान – पहचान बढ़ाई. प्रेम जाल में फंसा लेने के बाद वसीम ने उसका अश्लील वीडियो भी बना लिया था. अश्लील वीडियो बना लेने के बाद वसीम पीड़िता को ब्लैकमेल करने लगा. जब वसीम बलैकमेल करने लगा तब यह सच सामने आया कि दिनेश कुमार रावत असल में वसीम है.
सचाई सामने आने पर वसीम ने पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी. पीड़िता के पिता ने वसीम के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. मेरठ जनपद के किठौर सर्किल के क्षेत्राधिकारी रामानन्द कुशवाहा ने बताया कि “ पुलिस की विवेचना में यह पता चला कि वसीम विगत दो वर्षों से मेरठ के एक अस्पताल में दिनेश रावत नाम की फर्जी आईडी पर नौकरी कर रहा था. पुलिस ने उसके पास से दिनेश रावत और वसीम अहमद नाम के पहचान पत्र बरामद किये हैं. पुलिस ने जब वसीम को गिरफ्तार किया तब उसने रौब झाड़ने के लिए खुद को पत्रकार बताया. मुंडाली थाना की पुलिस ने वसीम के खिलाफ आईटी एक्ट और आईपीसी 376 सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया.”