द​क्षिणी बिहार के पूर्व संघचालक एवं वरिष्ठ साहित्यकार शत्रुघ्न प्रसाद का निधन

    दिनांक 01-जुलाई-2020
Total Views |

shatrughan parsad _1  

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दक्षिण बिहार प्रान्त के पूर्व संघचालक, ऐतिहासिक उपन्यासकर व वर्तमान में प्रज्ञा प्रवाह की बिहार ईकाई  के अध्यक्ष डॉ शत्रुघ्न प्रसाद का निधन हो गया।
महामहिम राष्ट्र्पति के द्वारा सम्मानित, मध्यप्रदेश शासन द्वारा कई सम्मानों से सम्मानित, इतिहास एवं उपन्यास लेखन को एक नई दिशा देने वाले कई उपन्यासों के लेखक, पत्रिकाओं के सम्पादक रहे 88 वर्षीय प्रो. शत्रुघ्न प्रसाद जी के जाने से समाज और संगठन को अपूरणीय क्षति हुई है।
88 वर्षीय शत्रुघ्न प्रसाद पटना के आईजीआईएमएस में भर्ती थे। ‘कश्मीर की बेटी’ व ‘दाराशिकोह’ जैसे कई ऐतिहासिक उपन्यासों के लेखक व राष्ट्रपति से पुरस्कृत शत्रुघ्न प्रसाद सिंह बीते दिनों ब्रेन हेमरेज हो गया था।
शत्रुघ्न प्रसाद के परिजनों ने बताया कि पैर फिसलने के कारण वे बाथरूम में गिर गए थे। इसके बाद उनको अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने बताया कि प्रसाद ब्रेन हेमरेज के शिकार हो गए हैं। इसके बाद से स्थिति गंभीर बनी हुई थी।
प्रो. शत्रुघ्न प्रसाद नालंदा में स्थित किसान कॉलेज के हिंदी विभाग से विभागाध्यक्ष रहते हुए सेवानिवृत्त हुए थे। वह छात्र जीवन में संघ से जुड़े थे। आपातकाल में दिनों में जेल भी गए थे। वर्षों तक वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दक्षिण बिहार प्रान्त में प्रान्त संघचालक रहे। स्वास्थ्य कारणों से दायित्व का त्याग कर दिया था लेकिन कार्यक्रमों में उपस्थित रहने का वह भरसक प्रयास करते थे।