अनस कुरैशी ने मंदिर सेवक कांतिप्रसाद को मार डाला

    दिनांक 16-जुलाई-2020
Total Views |
मेरठ जनपद के शिव मंदिर में मंदिर सेवक कांतिप्रसाद हमेशा भगवा गमछा और पीला वस्त्र पहनते थे। उनके भगवा गमछे का अनस कुरैशी ने मजाक उड़ाया। सनातन धर्म के खिलाफ टिप्पणी की, विरोध करने पर पीट- पीट कर हत्या कर दी

कांति प्रसाद_1  
उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में एक मंदिर सेवक की हत्या कर दी गई। मेरठ जनपद के भावनपुर थाना अंतर्गत अब्दुल्लापुर बाजार में शिव मंदिर है। इस शिव मंदिर से लगी हुई कांति प्रसाद की दुकान है। कांति प्रसाद, मंदिर में साफ-सफाई का काम देखते थे। वे हमेशा गले में भगवा रंग का गमछा और पीले रंग का वस्त्र धारण करते थे। 13 जुलाई को गंगानगर से जब वे बिजली का बिल जमा करके लौट रहे थे। उसी समय अनस कुरैशी ने उनके भगवा गमछे का मजाक उड़ाया और सनातन धर्म के खिलाफ टिप्पणी की। सनातन धर्म के खिलाफ की गई टिप्पणी का कांति प्रसाद ने विरोध किया। आरोप है कि अनस कुरैशी ने कांति प्रसाद पर हमला कर दिया। इसके बाद कांति प्रसाद ने अनस कुरैशी के घर जाकर शिकायत की। अनस कुरैशी और उसके घर वालों ने कांति प्रसाद पर फिर से हमला किया जिससे वह लहूलुहान हो गए। कांति प्रसाद ने थाने पर अनस के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने अनस के खिलाफ मारपीट की एफआईआर दर्ज कर ली। इसके बाद घायल अवस्था में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल में 14 जुलाई को उनकी मृत्यु हो गई.
कांति प्रसाद की मृत्यु की सूचना के बाद 15 जुलाई को हिंदू संगठन एवं क्षेत्रीय विधायक थाने पर पहुंचे। इस घटना के विरोध में स्थानीय लोगों ने कांति प्रसाद का शव रखकर सड़क पर जाम लगा दिया. आस – पास के क्षेत्र में तनाव बढ़ता देख मेरठ जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी समेत तमाम थाने की फोर्स मौके पर पहुंची। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने थाना प्रभारी एवं चौकी प्रभारी को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर जनता के आक्रोश को कम करने का प्रयास किया। अजय कुमार साहनी ने बताया कि “मारपीट की जो एफआईआर दर्ज की गई थी। उसमें हत्या की धारा बढ़ाई जायेगी। अभियुक्त के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।”