कारगिल विजय की 21वीं वर्षगांठ- “अगर दुश्मन ने कभी हमारे ऊपर आक्रमण किया, तो हम कारगिल की तरह ही उसे मुंहतोड़ जवाब देंगे”

    दिनांक 27-जुलाई-2020   
Total Views |
कारगिल विजय दिवस की 21वीं वर्षगांठ पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बलिदानी जवानों को नमन एवं श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि कारगिल विजय दिवस केवल एक दिन नहीं है, बल्कि भारतीय सशस्त्र बलों के शौर्य और पराक्रम का विजयोत्सव है।
jk1_1  H x W: 0

कारगिल विजय दिवस की 21वीं वर्षगांठ पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बलिदानी जवानों को नमन एवं श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि कारगिल विजय दिवस केवल एक दिन नहीं है, बल्कि भारतीय सशस्त्र बलों के शौर्य और पराक्रम का विजयोत्सव है। दरअसल रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रविवार बलिदानियों को श्रद्धांजलि देने के लिए दिल्ली स्थित राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पहुंचे थे, जहां उनके साथ रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और थल, वायु के सेनाध्यक्ष भी मौजूद थे। इस दौरान रक्षा मंत्री समेत सभी अधिकारियों ने बलिदानी जवानों को सलामी देते हुये श्रद्धांजलि अर्पित की।


रक्षामंत्री ने देश के नाम जारी अपने वीडियो संदेश में कारगिल युद्ध के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद किया। उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध के बाद अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि हम ने यह साबित कर दिया कि हम किसी बाहरी दबाव के सामने नहीं झुकेंगे। हमने यह भी साबित कर दिया कि हम एक जिम्मेदार राष्ट्र हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा के दायरे में हम जो कुछ भी करते हैं, वह हमेशा आत्मरक्षा के लिए करते हैं, आक्रमण के लिए नहीं। अगर दुश्मन देश ने अब कभी हमारे ऊपर आक्रमण किया, तो हमने यह भी साबित कर दिया कि कारगिल की तरह हम उसे मुंहतोड़ जवाब देंगे।


श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अटल जी ने 21 साल पहले जो संदेश दिया था, वहीं संदेश आज भी है। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा और एकता के लिए हम बड़े से बड़ा कदम उठाने के लिए तैयार हैं। हाल ही में मुझे लद्दाख जाने और वहां से कारगिल जाकर वीर सपूतों को श्रद्धांजलि देने का अवसर प्राप्त हुआ था। मैंने अनुभव किया था कि कैसे हमारे वीर जवानों ने कठिन और विपरीत परिस्थितियों में अपना सयंम और धैर्य बनाये रखकर दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दिया था।


उन्होंने आगे कहा कि मुझे यह कहते हुये खुशी हो रही है कि 20 वर्ष पहले के मुकाबले मैंने लद्दाख़ में बहुत बड़ा बदलाव देखा है। रक्षा मंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा, “कारगिल विजय की 21वीं वर्षगांठ पर मैं भारतीय सशस्त्र बलों के उन बहादुर सैनिकों को सलाम करना चाहता हूं जिन्होंने हाल के इतिहास में दुनिया की सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में दुश्मन का मुकाबला किया था।