पाकिस्तान: लाहौर में मौलवी ने किया गुरुद्वारे पर कब्जा

    दिनांक 28-जुलाई-2020   
Total Views |

पाकिस्तान में कट्टरपंथियों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं। लाहौर में एक मौलवी ने गुरुद्वारे की
जमीन पर कब्जा कर लिया। मौलवी ने गुरुद्वारे को दरगाह की जमीन बताकर कब्जा कर लिया है।
साथ ही वीडियो जारी कर धमकी भी दी है।

pak_1  H x W: 0

पाकिस्तान का यह मौलवी सोहैल बट्‌ट, दावत-ए-इस्लामी (बरेलवी) से जुड़ा है। वह लाहौर में मुस्लिम पैगम्बर हजरत शाह काकु चिश्ती दरगाह का केयरटेकर भी है। उसने एक वीडियो के माध्यम से सिखों को धमकी दी है कि पाकिस्तान इस्लामी देश है और यहां सिर्फ मुसलमान ही रह सकते हैं। मौलवी सोहैल ने वीडियो जारी करके कहा है कि एक इस्लामिक मुल्क होने के चलते पाकिस्तान केवल मुसलमानों का है।

उल्लेखनीय है कि यह  गुरुद्वारा भाई तारु सिंह के शहीद स्थल पर बना है। यहां पर 1726 में मुगल काल के दौरान वायसराय जकारिया खान ने इस्लाम न स्वीकार करने पर भाई तारु सिंह का सिर काट दिया था। पाकिस्तान में कई ऐतिहासिक सिख गुरुद्वारे ऐसे हैं जो या तो जर्जर स्थिति में हैं या फिर भू-माफिया और कट्टरपंथियों के कब्जे में हैं।


जानकारी के अनुसार उसने स्थानीय कट्टरपंथियों के साथ मिलकर गुरुद्वारा शहीद भाई तारु सिंह की जमीन पर कब्जा कर लिया। इसके बाद वीडियो जारी कर पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (पीजीपीसी) के पूर्व अध्यक्ष गोपाल सिंह चावला को धमकी दी। गोपाल चावला ने गुरुद्वारा में पिछले साल श्री निसाल साहिब (सिख प्रतीक) फहराया था।

इस मामले की जानकारी आने के बाद भारत ने पाकिस्तानी उच्चायोग के सामने सोमवार को कड़ा ऐतराज जताया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने मीडिया से हुई बातचीत मेें बताया कि भारत ने पाकिस्तान से मामले की जांच करने और तत्काल इस संबंध में कार्रवाई करने की मांग की है।