वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 6 पुलों का किया ई—उद्घाटन, सेना को आवाजाही में होगी सहूलियत

    दिनांक 09-जुलाई-2020   
Total Views |
जम्मू-कश्मीर में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा निर्मित 6 पुलों का रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ई—उद्घाटन किया है। ये पुल रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सशस्त्र बलों की आवाजाही की सुविधा प्रदान करेंगे और दूर-दराज के सीमावर्ती क्षेत्रों के आर्थिक विकास में भी योगदान देंगे।

rajnath_1  H x


जम्मू-कश्मीर में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा निर्मित 6 पुलों का रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ई—उद्घाटन किया है। उद्घाटन के दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह, बीआरओ चीफ लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह, सेना प्रमुख एमएम नरवाणे समेत सेना के अन्य सीनियर अधिकारी मौजूद रहे। गौरतलब है कि इन 6 पुलों में से 4 अखनूर सेक्टर में स्थित हैं और 2 जम्मू-राजपुरा क्षेत्र में स्थित हैं।

अधिकारियों ने बताया कि ये 6 पुल लगभग 43 करोड़ रुपये की लागत से बनाये गये हैं। इस मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके कहा कि आज वीडियो कांफ्रेंसिंग सुविधा के माध्यम से जम्मू-कश्मीर में बीआरओ द्वारा निर्मित छह पुलों को राष्ट्र को समर्पित किया गया। ये पुल रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सशस्त्र बलों की आवाजाही की सुविधा प्रदान करेंगे और दूर-दराज के सीमावर्ती क्षेत्रों के आर्थिक विकास में भी योगदान देंगे।

उन्होंने आगे कहा कि मैं बीआरओ के सभी रैंकों को रिकॉर्ड समय में इन पुलों को पूरा करने के लिए बधाई देता हूं। ये परियोजनाएं सीमा के करीब दूर दराज के क्षेत्रों में जीवन रेखाएं हैं। सरकार सभी बीआरओ परियोजनाओं की प्रगति की नियमित निगरानी कर रही है और समय पर पूरा करने के लिए सरकार की तरफ से पर्याप्त धन दिया जा रहा है।


बीआरओ चीफ लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि हम कुल 17 पुलों का निर्माण कर रहे हैं, जिनमें से 6 पुल बनकर तैयार हैं। 5 अगले महीने तक बनकर तैयार हो जाएंगे। बाकी पुल मार्च 2021 तक पूरे हो जाएंगे। जानकारी के मुताबिक केंद्र सरकार ने विशेष रूप से पिछले महीने जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड में बीआरओ द्वारा राजमार्ग कार्यों के लिए अतिरिक्त 1,691 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है।