अत्याधुनिक होगा अयोध्या शोध संस्थान, करोड़ों लोग देख सकेंगे'आन लाइन' राम लीला

    दिनांक 16-सितंबर-2020   
Total Views |
अयोध्या शोध संस्थान को अत्याधुनिक बनाने का कार्य शुरू हो गया है। योगी सरकार ने इस कार्य के लिए 18 करोड़ रुपए स्वीकृत किये हैं। बहुत जल्द ही अयोध्या शोध संस्थान की चार मंजिला इमारत बन कर तैयार हो जायेगी।

auy_1  H x W: 0

अयोध्या शोध संस्थान को अत्याधुनिक बनाने का कार्य शुरू हो गया है। योगी सरकार ने इस कार्य के लिए 18 करोड़ रुपए स्वीकृत किये हैं। बहुत जल्द ही अयोध्या शोध संस्थान की चार मंजिला इमारत बन कर तैयार हो जायेगी। यहां पर होने वाली रामलीला को और बेहतर ढंग से प्रस्तुत किया जाएगा। जल्द ही,करोड़ों लोग रामलीला ‘ऑनलाइन’ देख सकेंगे।

शोध संस्थान में रखे शिल्प सामग्रियों के प्रदर्शन के लिए पर्याप्त जगह भी नही थी। बहुत छोटे-छोटे कमरे बने थे। अब नया निर्माण कार्य किया जा रहा है, जिसमें 4 मंजिल बनेंगी। पहले भाग पर कार्यालय,  दूसरे पर पुस्तकालय, तीसरे पर प्रशासनिक भवन और चौथे पर कांफ्रेंस हाल का निर्माण किया जाएगा। इसके साथ ही पूरा भवन वातानुकूलित होगा। पुराने भवन में भूतल पर शिल्प संग्रहालय स्थापित है और पहली मंजिल पर रामलीला आयोजित होती है।

नई बिल्डिंग बन जाने पर तीसरे तल पर विदेशी शिल्प सामग्री का संग्रह किया जाएगा। फिलहाल निर्माण कार्य को देखते हुए आम नागरिकों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। निर्माण कार्य पूरा होने तक शोध संस्थान की सभी व्यवस्थाओं को अयोध्या के सरयू तट स्थित अंतरराष्ट्रीय राम कथा संग्रहालय में शिफ्ट किए जाने का कार्य भी चल रहा है।