कमर अली बना अंकित वाजपेयी दो वर्षों तक किया दुष्कर्म, गिरफ्तार

    दिनांक 18-सितंबर-2020   
Total Views |
 
उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में एक मुस्लिम युवक ने लव जिहाद के लिए हिंदू नाम से फेसबुक आईडी बनाई और स्वयं को पत्रकार बताया। फेसबुक आईडी पर उसने एक हिंदू लड़की को प्रेम जाल में फंसाकर दुष्कर्म किया। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

KAMRJEET_1  H x
 उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में एक मुस्लिम युवक ने लव जिहाद के लिए हिंदू नाम से फेसबुक आईडी बनाई और स्वयं को पत्रकार बताया। फेसबुक आईडी पर उसने एक हिंदू लड़की को प्रेम जाल में फंसा लिया। जान-पहचान बढ़ाने के बाद उसने धोखे से दुष्कर्म किया और अश्लील फोटो भी खींच लिया।
 
उसने पीड़िता को दो वर्ष तक ब्लैकमेल किया तब पीड़िता ने तंग आकर पुलिस से उसकी शिकायत की। पुलिस ने जब जांच किया तब पता लगा कि इस नाम का कोई युवक है ही नही। गहनता पूर्वक जांच करने पर खुलासा हुआ कि वह असल में मुसलमान है और उसका पत्रकारिता से कोई वास्ता नहीं है।
अंकित बाजपेई उसका नकली नाम है। अभियुक्त का असली नाम कमर अली है और वह मोहल्ला रामनगर कस्बा पाली का रहने वाला है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।
हरदोई शहर के रेलवगंज की एक हिंदू लड़की निजी कंपनी में काम करती है। करीब दो वर्ष पूर्व उसकी फेसबुक पर अंकित वाजपेई नाम के युवक से दोस्ती हो गई। फेसबुक के माध्यम से उस युवक ने बताया कि वह पत्रकार है। फेसबुक आईडी के माध्यम से चैट करने लगा। धीरे-धीरे काफी जान पहचान बढ़ गई। उस युवक ने एक दिन अपने घर बुलाया और चाय में नशीला पदार्थ पिलाने के बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। 
इस दौरान अश्लील फोटो भी खींच लिया। वह अश्लील फोटो दिखाकर 2 वर्षों तक दुष्कर्म करता रहा। गत 9 सितंबर को शहर कोतवाली में पीड़िता ने अंकित बाजपेई के खिलाफ शिकायत की। पुलिस ने अंकित वाजपेई के नाम से जब छानबीन की तो पता लगा कि अंकित बाजपेई उसका नकली नाम है। अभियुक्त का असली नाम कमर अली है और वह मोहल्ला रामनगर कस्बा पाली का रहने वाला है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।