जिहादी मॉब लिंचिंग के शिकार राहुल के परिजनों को मिले आर्थिक सहायता: विहिप

    दिनांक 02-सितंबर-2020   
Total Views |
देश की राजधानी दिल्ली में गत शुक्रवार सरेआम एक पार्क में पेड़ से बांधकर 23 वर्षीय युवक राहुल की लाठी-डंडे व लोहे की सरियों से पीट-पीट कर मुश्ताक़, शिराज़, अनीश तथा इश्तिहार नामक चार मुसलमानों ने नृशंस हत्या कर दी थी. इस संबंध में विहिप ने लिंचिंग के शिकार राहुल के परिवार की उचित आर्थिक सहायतार्थ एवं सम्बल प्रदान करने की दिल्ली सरकार से तुरंत मांग की है

vhp_1  H x W: 0

        
विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने माँग की है कि दिल्ली में चार  जिहादियों की लिंचिंग के शिकार राहुल के परिवार की उचित आर्थिक सहायतार्थ दिल्ली सरकार अबिलम्ब कदम उठाए तथा परिवार को सम्बल प्रदान करे. विहिप दिल्ली के प्रांत अध्यक्ष कपिल खन्ना तथा राष्ट्रीय प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी मृतक राहुल के जवाहर कैम्प, कीर्ति नगर स्थित उसके घर पहुंचे और शोकाकुल परिजनों को ढाढ़स बंधाया.

गौरतलब है कि 23 वर्षीय राहुल अपने पीछे बीमार माता-पिता, पत्नी तथा एक 4 वर्षीय बेटा छोड़ गया है. परिवार का रो-रो कर बुरा हाल था. राहुल के 56 वर्षीय पिता रघुवीर सिंह ने रोते हुए बताया कि मैं और मेरी पत्नी गुड्डी देवी तो दोनों बीमार ही रहते हैं. ऐसे में राहुल के अलावा हमारा कोई अन्य सहारा न था. अब राहुल के 4 वर्षीय बेटे व युवा पत्नी पूजा का भविष्य भी पूरी तरह अन्धकारमय है. सरकार कुछ करे तो हमारा भविष्य संवर सकता है अन्यथा हमारा तो सब कुछ लूट लिया उन हत्यारे जिहादियों ने.

पीड़ित परिवार से मिलने के तुरंत बाद विहिप प्रांत अध्यक्ष ने एक पत्र दिल्ली के मुख्यमंत्री को लिख कर माँग की कि वे अबिलम्ब इस्लामिक जिहादियों के शिकार बने मृतक राहुल के परिजनों को दएरु न करते हुए आर्थिक सहायता राशि दें, जिससे परिवार अपना गुजर बसर कर सके. उन्होंने अपने पत्र में यह भी कहा है कि यह राशि पहले किसी अन्य को दी गई सहायता राशि से कम न हो अन्यथा आपके सेकुलरवाद पर प्रश्नचिन्ह लगेगा।

ज्ञातव्य रहे कि देश की राजधानी दिल्ली में गत शुक्रवार प्रात: काल सरेआम एक पार्क में पेड़ से बांधकर 23 वर्षीय युवक राहुल की लाठी डंडे व लोहे के सरिये से पीट-पीट कर मुश्ताक़, शिराज़, अनीश तथा इश्तिहार नामक चार मुसलमानों ने नृशंस हत्या कर दी थी. हत्यारों के पड़ोसी शेष कुमार द्वारा बार बार अनुनय विनय व समझाने के बावजूद जिहादी टस से मस नहीं हुए.           

किसी गैर हिन्दू के मरने पर तुरंत दुःख दर्द साझा करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा राहुल के परिजनों की उपेक्षा पर विहिप ने गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए पूछा है कि क्या राहुल के परिजनों का यही दोष है कि वे हिन्दू हैं या इसलिए कि लिंचिंग करने वाले  मुसलमान हैं?