लव जिहाद की घटनाओं को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ला सकती है अध्यादेश

    दिनांक 21-सितंबर-2020   
Total Views |
लव जिहाद की घटनाओं पर नियंत्रण करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार नया कानून या फिर अध्यादेश ला सकती है क्योंकि कुछ महीनों से राज्य में लव जिहाद की घटनायें तेजी से हो रही हैं। इस मामले पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि यह बेहद गंभीर मामला है। सरकार इस पर मंथन कर रही है। बहुत जल्द ही इस विषय पर कड़ा फैसला लिया जाएगा।
yogi_1  H x W:

लव जिहाद की घटनाओं पर नियंत्रण करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार नया कानून या फिर अध्यादेश ला सकती है। इधर कुछ महीनों से राज्य में लव जिहाद की घटनायें तेजी से हो रही हैं। इस मामले पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा  कि यह बेहद गंभीर मामला है। सरकार इस पर मंथन कर रही है। बहुत जल्द ही इस विषय पर कड़ा फैसला लिया जाएगा। उत्तर प्रदेश सकरार के अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा ने भी नया अध्यादेश लाने की ओर इशारा किया है। उन्होंने  कहा कि लव जिहाद एक साजिश है, जिसके तहत भोली-भाली हिन्दू लड़कियों को शिकार बनाया जा रहा है। हिंदू लड़कियों को जानबूझ कर निशाना बनाया जा रहा है। साजिश के तहत इस तरह की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। इसे रोकने के लिए अगर जरूरत पड़ी तो सरकार कानून बनायेगी। सिमी और पीएफआई जैसे संगठन इसके पीछे हैं। लव जिहाद और कन्वर्जन की काफी शिकायतें आ रही हैं। एक षड़यंत्र के तहत कन्वर्जन कराया जा रहा है।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंभीरता से लिया है और उन्होंने लव जिहादी मोहम्मद दिलशाद पर एनएसए लगाने का आदेश दिया।

गौरतलब है कि गत दो माह में मेरठ जनपद में लव जिहाद के चार प्रकरण सामने आए जिसमें मुसलमान युवकों ने हिन्दू नाम बता कर लड़की से जान-पहचान बढ़ाई थी। दो प्रकरण में हिन्दू लड़कियों की हत्या कर दी गई। तीसरे प्रकरण में मुस्लिम युवक अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगा और चौथे प्रकरण में मुस्लिम युवक, हिन्दू लड़की को गर्भवती छोड़कर फरार हो गया। इसी प्रकार कानपुर जनपद में आधा दर्जन से अधिक लव जिहाद की घटनाएं प्रकाश में आ चुकी हैं। कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने लव जिहाद की घटनाओं की जांच करने के लिए एसआइटी का गठन किया है।

लव जिहाद की घटनाओं को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंभीरता से लिया है और उन्होंने लव जिहादी मोहम्मद दिलशाद पर एनएसए लगाने का आदेश दिया। लखीमपुर खीरी जनपद में दर्जी का काम करने वाले दिलशाद ने हिन्दू लड़की से जान–पहचान बढ़ाई और फिर प्रेम जाल में फंसाया। इस बीच लड़की की शादी कहीं और तय हो गई।

दिलशाद ने लड़की को कन्वर्जन के लिए विवश किया मगर लड़की ने मना कर दिया। उसके बाद दिलशाद ने लड़की को धोखे से बुलाया और बलात्कार के बाद हत्या कर दी। गत 27 अगस्त को मृतका के शव के पास मोबाइल  फोन एवं हत्या में उपयोग किया गया चाकू बरामद हुआ था। विवेचना में पाया गया कि मृतका और दिलशाद के बीच पिछले कई महीने से मोबाइल पर बात हो रही थी। घटना से एक दिन पहले दोनों के बीच 13 बार बात हुई थी। शक के आधार पर पुलिस ने जब दिलशाद से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।